वैक्सीन ना मिलने से झारखंड सरकार पर बरसे प्रदीप भैया! बोले- दोगली राजनीति कर रही है सरकार

पूरे देश में वैक्सीनेशन का कार्य किया जा रहा है. बड़े पोस्टर, अखबारों में विज्ञापन, जनचौपाल के माध्यम से ग्रामीण इलाकों में रहने वाले लोगों को वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है. धर्मगुरु, नेता. समाजसेवी और अन्य के जरिये भी अपील करवाई जा रही है कि वैक्सीन अवश्य लगवाएं लेकिन झारखण्ड के देवघर में जब मशहूर कथावाचक प्रदीप भैया जी महाराज वैक्सीन लगवाने पहुंचे तो उन्हें मायूसी हाथ लगी और राज्य सरकार पर भड़क गये.

दरअसल अपने फेसबुक लाइव में प्रदीप भैया ने बताया कि वे सेवा फाउंडेशन के पदाधिकारियों के साथ केशरवानी आश्रम में स्थित वैक्सीनेशन सेंटर गये थे. सबकी उम्र लगभग 40 से 46 उम्र के बीच थी लेकिन वैक्सीनेशन सेंटर के कर्मचारियों ने बताया कि सिर्फ उनका ही वैक्सीनेशन हो सकता है अन्य किसी नही!

प्रदीप भैया ने बताया कि जब उन्होंने इसके बारे में सिविल सर्जन युगल किशोर चौधरी से बात की तो उन्होंने कई सारी बातें बताई. प्रदीप भैया ने कहा कि मैंने सिविल सर्जन साहब का सम्मान करते हुए उनकी बात मान ली, लेकिन बड़ी बात ये है कि एक तरफ धर्मगुरुओं, विज्ञापनों और चौपाल के जरिये सरकार लोगों से अपील कर रही है कि सब लोग वैक्सीन लगवाने जरूर जाएँ लेकिन वैक्सीनेशन सेंटर पर लोगों को कानून पढ़ाया जाता है. लोगों को परेशान किया जा रहा है.

प्रदीप भैया ने कहा राज्य सरकार नाटक ना करें, केंद्र सरकार को बदनाम करने की कोशिश ना करे. वैक्सीनेशन सेंटर से लोगों को बेइज्जत करके निकाला जा रहा है. उन्होंने कहा कि एक तरफ ये कहा जा रहा है कि गाव में लोग वैक्सीन नही लगवा रहे हैं तो दूसरी तरफ गाँव के लोग जब वैक्सीनेशन सेंटर पर पहुँचते हैं तो उनके साथ दुर्व्यवहार किया जा रहा है. उन्हें कानून पढ़ाया जा रहा है.