ग्रामीण इलाकों में संक्रमण के फैलाव को रोकना सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता: सीएम

  • मुख्यमंत्री ने साहिबगंज सदर अस्पताल में नवनिर्मित पीएसए प्लांट का किया ऑनलाइन उद्घाटन
  • स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर बनाने और जरूरी संसाधनों को निरंतर बढ़ाने का हो रहा प्रयास

रांची: राज्य में स्वास्थ्य सुविधाओं को  बेहतर बनाने और सभी जरूरी संसाधनों को बढ़ाने का सरकार निरंतर प्रयास कर रही है. कोरोना संक्रमण के इस दौर में मरीजों का समुचित इलाज सुनिश्चित करना सरकार की विशेष प्राथमिकता है. मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने आज साहिबगंज सदर अस्पताल में नवनिर्मित पीएसए प्लांट का ऑनलाइन उद्घाटन करने के दरमयान ये बातें कही. मुख्यमंत्री ने कहा कि साहिबगज जिले में आरटीपीसीआर लैब के अधिष्ठापन के बाद पीएसए प्लांट और दो कार्डियक एंबुलेंस  शुरू होने से स्वास्थ्य क्षेत्र के बेहतर बनाने की दिशा में एक और कदम आगे बढ़े हैं. इसका फायदा न सिर्फ इस जिले बल्कि निकटवर्ती जिले के लोगों को भी मिलेगा. मुख्यमंत्री ने इस मौके पर सभी राज्यवासियों को ईद की मुबारकबाद दी.

18 साल से ज्यादा उम्र के लोगों का निःशुल्क टीकाकरण कार्यक्रम शुरू

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज से ही पूरे राज्य में 18 साल से ज्यादा उम्र के लाभार्थियों के लिए निःशुल्क टीकाकरण कार्यक्रम शुरू हो चुका है. इसके लिए आरंभिक चऱण में पूरे राज्य में 496 टीका केंद्र बनाए गए हैं. साहेबगंज जिले में तीन केंद्रों में 18 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को टीका लगाया जा रहा है. उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि वे टीका जरूर लें. इससे कोरोना से बचाव में काफी मदद मिलेगी.

 ग्रामीण इलाकों पर सरकार का है विशेष फोकस

 मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्रामीण इलाकों में लोग कोरोना का टेस्ट और टीका लगाने से परहेज कर रहे हैं. इसकी वजह उनके बीच फैली तरह-तरह की भ्रांतियां हैं. आज ग्रामीणों के बीच व्याप्त इस भ्रम को तोड़ने की जरूरत है. गांवों में संक्रमण के हो रहे फैलाव पर सरकार की लगातार नजर बनी हुई है. इस बाबत जन प्रतिनिधियों और सभी जिलों के उपायुक्त व अन्य प्रशासनिक पदाधिकारियों के साथ सरकार लगातार संपर्क बनाए हुए है. इस बाबत सांसदों और विधायकों से कई अहम सुझाव भी मिले हैं. हमारी कोशिश है कि सभी की भागीदारी से ग्रामीण इलाकों में कोरोना से निपटने में हम कामयाब होंगे.

  हाट-बाजार में सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन हो

मुख्यमंत्री ने साहिबंगज उपायुक्त को निर्देश देते हुए कि ग्रामीण इलाकों में लगने वाले हाट-बाजार में सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन सुनिश्चित कराएं. उन्होंने कहा कि गांवों में हाट-बाजार के लिए जगह की कमी नहीं होती है. ऐसे में हाट-बाजारों में लोग एक-दूसरे से दूरी बनाकर ही सामानों की खरीदारी करें. इससे गांवों में संक्रमण के तेजी से हो रहे फैलाव को रोकने में मदद मिलेगी. इस मौके पर मुख्यमंत्री आवासीय कार्यालय से स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता, विकास आय़ुक्त-सह-अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य विभाग अरुण कुमार सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का और नगर विकास एवं आवास विभाग के सचिव विनय कुमार चौबे मौजूद थे. वहीं सांसद विजय हांसदा और साहिबगंज जिले से उपायुक्त, पुलिस अधीक्षक और सिविल सर्जन समेत अन्य पदाधिकारी भी मौजूद थे.