पीएम मोदी अब नए विमान में भरेंगे उड़ान, अमेरिकी राष्ट्रपति के विमान जैसी होगी सुरक्षा

भारतीय प्रधानमंत्री समेत बड़े पदाधिकारियों के लिए बनाये गये विमान B777-300ER सितंबर तक एयर इंडिया को मिलने की उम्मीद है. हम आपको इससे जुडी हर जानकारी देंगे कि आखिर फिलहाल प्रधानमंत्री किस विमान का इस्तेमाल करते हैं और आने वाले दिनों में प्रधानमंत्री राष्ट्रपति या फिर राष्ट्रपति कितने हाईटेक विमान का इस्तमाल करेंगे.

न्यूज एजेंसी पीटीआई से अधिकारियों ने कहा, ‘कुछ देरी हुई है, मुख्य तौर पर कोविड-19 के कारण. दो विमानों की आपूर्ति सितंबर तक की जा सकती है.’ खास बात यह है कि इन दो बी777 विमानों को भारतीय वायु सेना के पायलट उड़ाएंगे, न कि एअर इंडिया के. विमान की सुरक्षा का विशेष ध्यान रखा गया है. यह विमान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के एयरफोर्स वन की तरह सुरक्षा से लैस है. बी777 विमानों में अत्याधुनिक मिसाइल रक्षा प्रणाली होंगी जिन्हें लार्ज एयरक्राफ्ट इंफ्रारेड काउंटर मेजर्स (LAIRCM) और सेल्फ प्रोटेक्शन सूट्स (SPS) कहा जाता है.

आइये एक बार इस विमान की खासियत पर भी नजर डालते हैं.

क्या हैं इसकी खासियतें…

> बोइंग 777 (B777-300ER) विमान स्पेशल प्रोटेक्शन सूट से लैस है.

> यह दुश्मनों के रडार फ्रीक्वेंसी को जब चाहे जाम कर सकता है और खतरे की स्थिति में रडार से बचकर निकल सकता है.

> यह दुश्मन की मिसाइलें का पता लगा सकता है, उसे डाइवर्ट भी कर सकता है.

> यह विमान किसी भी समय हवाई हमला होने की स्थिति में जवाबी कार्रवाई भी कर सकता है.

> ये विमान दुश्मन पर मिसाइल हमला भी कर सकता है.

> इसमें 396 लोगों के बैठने की सुविधा है.

> यह विमान 100 फीसदी डिजिटली डिजाइन किया गया है.

> इसमें एडवांस एयरोडायनेमिक्स लगे हैं.

> इसके विंग्स यानी पंखों की लंबाई 212.7 फीट है.

> यह विमान 60.8 फीट ऊंचा है.

> विमान की लंबाई 242.4 फीट है.

> इस विमान की रेंज 13649 किलोमीटर है, यानी एक बार उड़ान भरने के बाद यह 13649 किलोमीटर की यात्रा कर सकता है.

> इस विमान से, कभी भी दुनिया के किसी भी राष्ट्र के प्रमुख से संपर्क स्थापित किया जा सकता है.

> इसमें एक बार में 100 लोगों का भोजन बनाने और 2000 लोगों के लिए भोजन स्टोर करने की व्यवस्था है.

इस विमान में अनिश्चितकाल तक उड़ान भरने के लिए हवा में ही ईंधन भरने की सुविधा मौजूद है.

वर्तमान में, प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति एअर इंडिया के बी747 विमानों से यात्रा करते हैं, जिनपर ‘एअर इंडिया वन’ का चिह्न होता है. एअर इंडिया के पायलट इन बी747 विमानों को उड़ाते हैं और जब ये बी747 विमान इन गणमान्य लोगों को लेकर उड़ान नहीं भरते, तब उनका इस्तेमाल भारतीय राष्ट्रीय परिवाहक व्यावसायिक परिचालनों के लिए करता है हालाँकि नए विमान में सिर्फ vvip लोग ही उड़ान भर सकेंगे हालाँकि नए विमान को एयर फ़ोर्स के जवान उड़ायेंगे . बताया जाता है कि सुरक्षा के मामले में ये विमान अमेरिका के राष्ट्रपति के विमान के बराबर होगा.