बढ़ते कोरोना वायरस के केस ने बढ़ाई टेंशन, पुणे में स्कूल कॉलेज बंद करने का आदेश!

महाराष्ट्र में बढ़ते कोरोना वायरस के केस ने एक बार फिर सरकार की चिंता बढ़ा दी  है. कई शहरों में शहरों के साथ एक बार फिर प्रतिबन्ध लगाया जा रहा है. पुणे में कोरोना के बढ़ते केस की वजह से 14 मार्च तक स्कूल, कॉलेज, निजी कोचिंग संस्थानों को 14 मार्च तक बंद कर दिया गया है. बता दें कि महाराष्ट्र के कई शहरों में कोरोना वायरस का संक्रमण फिर से बढ़ रहा है. कई जिलों में कोरोना के कई केस सामने आए हैं, इसके बाद प्रशासन सतर्क हो गया है.

कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे को देखते हुए पुणे शहर के मेयर मुरलीधर मोहोल ने कॉलेज, स्कूल और निजी कोचिंग संस्थाओं को 14 मार्च तक बंद कर दिया है. ऐसा कोरोना के बढ़ते केस को देखते हुए किया गया है.पुणे मेयर के ऑफिस से जारी आदेश के अनुसार रात 11 बजे से लेकर सुबह 6 बजे तक पब्लिक मूवमेंट की इजाजत नहीं है. इस दौरान जरूरी होने पर ही बाहर निकलने की अनुमति होगी.

कोरोना संकट में महीनों ऑनलाइन क्लास के बाद पुणे शहर में जनवरी में शिक्षण संस्थान खोल दिए गए थे. तब नगर निगम ने शिक्षकों और स्टाफ को कहा था कि वो कोरोना टेस्ट कराने के बाद संस्थान खोल सकते हैं. ग्रामीण इलाकों में संस्थान नवंबर में ही खोल दिए गए थे. लेकिन अब नए कोरोना वायरस केस आने के बाद अधिकारियों पर दबाव था कि फिर से कोरोना को लेकर सतर्कता के तहत नियमों को सख्त बनाया जाए.

स्कूल कॉलेजों को बंद करने के फैसले के साथ ही शहर में 11 बजे से सुबह 6 बजे के बीच नाइट कर्फ्यू भी लागू रहेगा, इस दौरान केलव आवश्यक सेवाओं के लिए लोगों को छूट दी जाएगी. औरंगाबाद में भी निगम ने कक्षा 5 से 9 तक ट्यूशन को बंद कर दिया है. ये प्रतिबंध 15 मार्च तक लागू रहेगा. इसके अलावा कक्षा 11 के ट्यूशन भी बंद कर दिए गए हैं.