पीएम मोदी का वीडियो शेयर कर राहुल गाँधी ने कसा तंज! बीजेपी ने दिया जवाब

कांग्रेस नेता राहुल गाँधी ने पीएम मोदी का ही एक वीडियो शेयर करते हुए तंज कसा है और मजाकिया टिप्पणी की है. वैसे पिछले काफी समय से राहुल गाँधी दोबारा एक्टिव तो गये हैं लेकिन अक्सर वो अपने बयान और ट्वीट में ही घिर जाते हैं. इस बार भी ऐसा ही हुआ.. राहुल गाँधी ने ट्वीटर पर एक वीडियो शेयर करते हुए लिखा है कि भारत के लिए असली ख़तरा ये नहीं है कि प्रधानमंत्री समझते नहीं है. ये एक तथ्य है कि उनके इर्द-गिर्द लोगों में से किसी में हिम्मत नहीं है जो उन्हें बता सके कि वो ग़लत हैं.
अब सवाल ये है कि आखिर राहुल गाँधी ने ये बात कही क्यूँ?


दरअसल राहुल गाँधी ने ट्वीट के साथ एक वीडियो में शेयर किया है. इस वीडियो में प्रधानमंत्री डेनमार्क की पवन ऊर्जा कंपनी वेस्तास के सीईओ हेनरिक एंडरसन के साथ बातचीत कर रहे थे.जिसमें पीएम मोदी प्रधानमंत्री कह रहे हैं कि तटीय इलाक़ों में पानी की समस्या को हल करने के लिए ऐसी पवन चक्कियां लगाई जानी चाहिए जो वायु में मौजूद आद्रता से पानी बना सके.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि ”हम इस टर्बाइन के माध्यम से ही हवा में से ऑक्सीजन निकाल सकते हैं. यदि वो पैरेलल ऑक्सीजन भी निकालता है हवा में से और उस ऑक्सीजन का भी मार्केट अगर कैप्चर किया जाए तो एक विंड टर्बाइन से बिजली भी मिल सकती है, पानी भी मिल सकता है और ऑक्सीजन भी मिल सकता है.”

मोदी की इस बात पर हेनरिक एंडरसन ने हंसते हुए कहा,“अगर आप कभी डेनमार्क आए तो आप मुझसे मिलें, आप हमारे इंजीनियरों के लिए आइडिया जेनरेटर हो सकते हैं.” इस बात पर दोनों हँसते हैं.

लेकिन अब सवाल ये है कि क्या पीएम मोदी जो बात कह रहे हैं वो संभव है? राहुल गांधी ने भले ही प्रधानमंत्री का मज़ाक़ बनाया हो, लेकिन हवा से विंड टर्बाइन के ज़रिए पानी निकालने का विचार नया नहीं है. साल 2012 में फ्रांस की एक कंपनी ने हवा से विंड टर्बाइन के ज़रिए पानी निकालने का दावा किया था. इसका मतलब ये हुआ है कि पीएम मोदी जो बातें कह रहे हैं वो संभव ही सकती है ऐसे में इस बात पर उनका मजाक बनाना बीजेपी के नेताओं को अच्छा नही लगा..

केन्द्रीय मंत्री स्मृति इरानी ने उन्हें युवराज बताया. स्मृति इरानी ने कहा कि ऐसा लगता है कि कांग्रेस के लिए जो वास्तविक ख़तरा है वह निश्चित रूप से फलफूल रहा है लेकिन किसी में इतनी हिम्मत नहीं है कि युवराज को बता सके. वहीं केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि कांग्रेस पार्टी में कोई ऐसा नहीं है जो राहुल गांधी को बता सके कि उन्हें समझ नहीं है. उन्होंने कहा, “वो प्रधानमंत्री के उस विचार का मज़ाक़ बना रहे हैं जिसका दुनिया की सबसे बड़ी ऊर्जा कंपनी के सीईओ ने स्वागत किया है.”