बारिश-बर्फबारी बरपा रही है कहर, कई लोगों की गई जान, कई सड़कें भी बंद

कोरोना वायरस पूरी दुनिया के लिए चिंता का सबब बन हुआ है और इसे लेकर दावा किया जा रहा है कि गर्मी का मौसम आते ही कोरोना का असर खत्म हो जाएगा. लेकिन लगता नहीं कि अभी मौसम बदलने वाला है. आमतौर पर मार्च के महिने में गर्मी होने लगती है और शायद ही बारिश के दर्शन होते है लेकिन इस साल ऐसा नहीं है..इस बार कहीं बारिश के साथ ओले गिर रहे हैं तो कहीं भारी बर्फबारी हो रही है..मार्च महीने में हो रही मूसलाधार बारिश और जमकर हो रही बर्फबारी ने कहर बरपाना शुरू कर दिया है..

जहां मैदानी इलाक़ों के कई क्षेत्र में झमाझम बारिश के साथ ओले गिर रहे है तो वही पहाड़ों पर जमकर बर्फ़बारी हो रही है..आलम ये है कि बारिश के कारण कई लोगों की जान चली गई है तो वही बर्फ़बारी के बाद कई सड़कें बंद हो गई है..यहाँ तक की ओले गिरने से कई जगह फसलों को भी नुक़सान पहुँचा है..

राजधानी दिल्ली समेत एनसीआर, बिहार,झारखंड और कई राज्यों में झमाझम बारिश अब भी जारी है..बारिश के साथ तेज़ हवाएँ और ओले भी गिर रहे है..जिससे ठंड अब भी बरकरार है..

बता दें कि उत्तर प्रदेश मौसम की मार से जूझ रहा है. प्रदेश में बादल कहर बनकर बरसे है, पिछले 24 घंटे में भारी बारिश हुई है. इस दौरान आकाशीय बिजली भी गिरी है. प्रशासन की ओर से जारी आंकड़े के अनुसार बारिश और आकाशीय बिजली के कारण शुक्रवार शाम 7 बजे तक कुल 28 लोगों की मौत हुई है..मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मृतकों के परिजनों को 4-4 लाख रुपये की सहायता राशि देने का ऐलान किया है..

दुसरी ओर पहाड़ों पर ऐसा आलम है कि जमकर बर्फ़बारी के बाद गंगोत्री-यमुनोत्री हाईवे समेत कई सड़कें बंद हो गए है..

मार्च महिने में मौसम ने एक बार फिर करवट बदल ली है. मौसम विभाग ने आने वाले 48 घंटे के लिए बारिश के साथ उचाई वाले स्थानों में बर्फबारी की चेतावनी जारी की है. साथ ही मैदानी इलाकों में भी बारिश के साथ ओले गिरने की संभावना जताई है. हालांकि आने वाले 16 मार्च के बाद मौसम में गर्माहट आनी शुरू हो जाएगी और तापमान में भी बढ़ोत्तरी होनी शुरू हो जाएगी..ऐसा मौसम विभाग का पूर्वानुमान है..