मंत्री, विधायक पाए गये कोरोना पॉजिटिव तो मुख्यमंत्री समेत कई बड़े अधिकारी हुए होम क्वारंटाइन

झारखण्ड में कोरोना वायरस की चपेट में वीवीआईपी भी आ गये हैं. जी हाँ क्या मंत्री, क्या विधायक..सबको कोरोना ने अपनी गिरफ्त में ले लिया है. झारखंड राज्‍य सरकार के पेयजल स्‍वच्‍छता मंत्री मिथिलेश ठाकुर मंगलवार को कोरोना पॉजिटिव पाए गये. इसके अलावा राज्‍य की सत्‍तारुढ़ पार्टी झारखंड मुक्ति मोर्चा के टुंडी विधायक  भी कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। वे एक दिन पूर्व ही एक प्रतिनिधिमंडल के साथ मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन से मिले थे, ऐसे में अंदेशा जताया जा रहा है कि राज्‍य के कई मंत्रियों और विधायकों पर कोरोना संक्रमण का खतरा मंडरा रहा है। अब आगे की जांच में कई वीवीआइपी के कोरोना की चपेट में आने का अंदेशा बना हुआ है.

वहीँ झारखंड में मंत्री और विधायक के कोरोना से संक्रमित पाए जाने के बाद बीजेपी प्रवक्ता प्रतुल देव शाहदेव  ने मुख्यमंत्री को सलाह दी है कि वे खुद को आइसोलेट करें. वहीँ प्रतुल देव शाहदेव ने संक्रमित हुए विधायक और मंत्री के जल्द स्वस्थ होने की कामना करते हुए लिखा है कि झारखंड सरकार के माननीय मंत्री और माननीय विधायक कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए हैं। ईश्वर आप दोनो को जल्द स्वस्थ करें। सभी से अपील है की ढिलाई न बरतें।

#Mask और #Sanitizer का प्रयोग करें और #SocialDistancing का कड़ाई से पालन करे।

 

वहीँ खबर ये भी है कि जब विधायक मथुरा महतो और मंत्री मिथिलेश ठाकुर से मुलाकात के बाद कोरोना पॉजिटिव पाए तो  मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने खुद को होम क्वारंटाइन कर लिया है. उनके अलावा झारखंड के कई वरिष्ठ अधिकारी भी होम क्वारंटाइन में चले गए हैं. मुख्यमंत्री सोरेन के प्रेस सलाहकार, प्रधान सचिव के भी होम में जाने की सूचना है.

पिछले 24 घंटों के दौरान राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण से दो और व्यक्तियों की मौत की खबर है. इसके अलावा वायरस के इंफेक्शन के 164 नए केस सामने आए हैं. इसके साथ ही प्रदेश में अब Corona संक्रमित मरीजों की संख्या 3000 के पार कर गई है. राज्य में अभी कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 3,018 है.. प्रदेश में कोरोना संक्रमण कितनी तेजी से अपने पैर पसार रहा है, इसका अंदाजा इसी बात से लग सकता है कि बीते दिनों इसकी चपेट में स्वास्थ्य विभाग और पुलिस से जुड़े कई लोग भी आ गए हैं. बीते 6 जुलाई को लोहरदगा के सिविल सर्जन भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे. इसके बाद स्वास्थ्य महकमें में हडकंप मच गया.. वहीँ लालू प्रसाद यादव की सुरक्षा में लगे एक पुलिसकर्मी भी कोरोना से संक्रमित पाया गया. हालांकि उसने लालू प्रसाद यादव की सुरक्षा में अपना योगदान फिलहाल नहीं दिया था.
कोरोना से बचना है तो जरूरी हो तभी घरों से बाहर निकले, मास्क पहले और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें…