रांची: 72 वर्षों के इतिहास में यह पहली बार रांची में नहीं होगा रावण दहन

रांची : कोरोना वायरस के संक्रमण के मद्देनजर राज्य सरकार द्वारा जारी गाइड लाइन की वजह से इस साल मोरहाबादी में रावण दहन नहीं होगा. आजादी के 72 वर्षों के इतिहास में यह पहली बार होगा, जब निर्बाध चली आ रही परंपरा का निर्वहन नहीं किया जा सकेगा.

हालांकि, इससे निराश होने की बजाय लोगों को खुश होना चाहिए कि हम रावण दहन कार्यक्रम का आयोजन न करके ‘कोरोना दहन’ कर रहे हैं. यानी जब सामूहिक पूजा, मेला आदि का आयोजन होगा ही नहीं, तो कोरोना फैलेगा ही नहीं.

राजधानी में रावण दहन की शुरुआत के पंजाबी हिंदू बिरादरी ने ही की थी. बिरादरी की ओर से ही मोरहाबादी मैदान में हर साल रावण दहन किया जाता है. बिरादरी के प्रवक्ता अरुण चावला ने बताया कि कोविड-19 के कारण राज्य सरकार के निर्देशों के मद्देनजर बिरादरी ने विगत दिनों रावण दहन का आयोजित नहीं करने का निर्णय लिया था।