“वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट” योजना का राँची को मिलेगा लाभ:संजय सेठ

राँची : सांसद संजय सेठ ने केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण राज्यमंत्री रामेश्वर तेली के साथ  दिल्ली में  बैठक की।  बैठक के दौरान सांसद ने मंत्री से राँची लोकसभा क्षेत्र सहित पूरे झारखंड में खाद्य प्रसंस्करण पर चल रही गतिविधियों पर चर्चा की और क्षेत्र में खाद्य प्रसंस्करण से जुड़ी योजनाओं को बढ़ाने का आग्रह किया ताकि आत्मनिर्भर भारत और वोकल फ़ॉर लोकल जैसी मुहिम को और भी मजबूती मिल सके।

बैठक में सांसद श्री सेठ ने माननीय मंत्री को जानकारी देते हुए बताया कि रांची लोकसभा क्षेत्र में टमाटर ,कटहल, मटर, महुआ, इमली ,पपीता ,अदरक, सहजन, इत्यादि की व्यापक पैमाने पर खेती होती है। इसके साथ ही यहां मशरूम की खेती भी लोग बड़े पैमाने पर करते हैं। साथ ही हर्बल मेडिसिन प्लांट के क्षेत्र में भी जैसे तुलसी,  नीम,  बेल, पलास, धतुरा, करंज , ब्राह्मी, सहित कई अन्य कृषि उत्पादों के मामले में भी राँची बहुत आगे है। उन्होंने मंत्री से आग्रह किया की राँची लोकसभा क्षेत्र में खाद्य प्रसंस्करण को लेकर योजनाओं को धरातल पर उतारा जाए और नागरिकों को स्वयं सहायता समूह के माध्यम उत्पादन करने को प्रेरित किया जाए।

श्री सेठ ने बताया कि केंद्रीय मंत्री ने राँची लोकसभा क्षेत्र में खाद्य प्रसंस्करण से जुड़े  छोटे-छोटे प्रकल्प खड़ा करने की बात कही है और ऐसे प्रकल्प से जुड़े नए उद्यमियों, स्वयं सहायता समूह से जुड़ी बहनों और कृषि क्षेत्र में काम कर रहे किसानों को प्रोत्साहित करने और अन्य प्रकार की सरकारी मदद देने का भी आश्वासन दिया है। सांसद संजय सेठ ने  मंत्री को जानकारी देते हुए बताया  कि यहां से सब्जी बंगाल, छत्तीसगढ़, बिहार, उड़ीसा ,मध्य प्रदेश, भेजा जाता है माननीय मंत्री  ने सब्जियों से जुड़े उत्पादों को बढ़ाने में भी रुचि दिखाई है और इसके लिए आश्वस्त किया है। इसके अलावे केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय के द्वारा पूरे देश में “वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट” की योजना शुरू होने जा रही है। इसके तहत देश के हर जिले को चिन्हित किया जाएगा, उस जिले में जिस भी कृषि उत्पाद की बहुलता होगी, उससे संबंधित अन्य कई कार्य व छोटे-छोटे उद्योग स्थापित करने की दिशा में काम किया जाएगा।

सांसद श्री सेठ ने माननीय मंत्री से आग्रह किया कि राँची में “वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट” जैसी योजना को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से स्थानीय किसानों, छोटे-छोटे उद्योग से जुड़े उद्यमियों को सामने लाया जाए और सरकारी स्तर पर उन्हें मदद उपलब्ध कराई जाए। ताकि किसान और उद्यमी दोनों साथ साथ मिलकर राज्य और देश के विकास में, क्षेत्र के आर्थिक विकास में अच्छी भूमिका निभा सकें। इसके लिए माननीय मंत्री ने सार्थक पहल करने का आश्वासन दिया है। प्रधानमंत्री किसान संपदा योजना के तहत देशभर के किसानों को संपन्न बनाने के लिए भी खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय कई तरह की योजनाओं पर काम कर रहा है। माननीय मंत्री श्री रामेश्वर तेली ने सांसद को बताया कि खाद्य प्रसंस्करण को बढ़ावा देने व आत्मनिर्भर भारत की मुहिम को और भी गति प्रदान करने के लिए केंद्रीय मंत्री, विभागीय अधिकारी के साथ नव उद्यमी व ऐसे किसानों जो खाद्य प्रसंस्करण में रुचि रखते  हैं  उनके साथ  जल्द ही वेबीनार किया जाएगा और किसानों को पूरी जानकारी उपलब्ध कराई जाएगी।