जज की मौत के पीछे साजिश या दुर्घटना? सीसीटीवी वीडियो से मिला सुराग

धनबाद की सड़कों पर मोर्निंग वाल्क करने निकले व्यक्ति को टेम्पो में टक्कर मार दी. व्यक्ति की मौत हो गयी. बाद में पता चला कि जिस व्यक्ति को टेम्प ने टक्कर मारी है वो धनबाद के जिला एवं सत्र न्यायाधीश उत्तम आनंद थे. जो सुबह 5 बजे सैर करने निकले थे लेकिन पूरी सड़क खाली थी बावजूद इसके  एक टेम्प पीछे से आती है  और जैसे ही सैर कर रहे जिला एवं सत्र न्यायाधीश उत्तम आनंद के पास पहुँचती है तो उनकी तरह बढती है और ठोकर मार देती है.. ठोकर मारने के बाद भी टेम्प चालक रुका नही. स्पीड के साथ वहां से निकल गया..

इसके बाद एक राहगीर ने इसकी सूचना पुलिस को दी. अस्पताल में भर्ती कराये जाने के बाद इलाज के दौरान ही जिला एवं सत्र न्यायाधीश उत्तम आनंद की साँसे रुक गयी..

वहीँ देर तक घर ना पहुँचने पर जज के परिजनों ने पुलिस को शिकायत दर्ज कराई.. इसके बाद पुलिस महकमे में हडकंप मच गया.. इसी बीच अस्पताल में एक लावारिश शव होने की सोचना मिली. पुलिस पहुंची तो पता चला कि जो व्यक्ति सड़क किनारे घायल अवस्था में पड़ा था और जिसकी मौत हो चुकी है वो कोई और नही बल्कि धनबाद के जिला एवं सत्र न्यायाधीश उत्तम आनंद थे..
खबर सामने आती है पूरी जिले में हडकम्प मच गया. अब पुलिस के हाथ सीसीटीवी फूटेज मिला है जिसमें साफ़ दिखाई दे रहा है कि बीच सड़क से अचानक गाड़ी कैसे जज के पास पहुंचकर ठोकर मारती है और फरार हो जाती है.. लोगों का कहना है फूटेज के हिसाब से ये कोई एक्सीडेंट नही बल्कि साजिश लगती है.

खबर तो ये भी है कि कुछ बड़े मामलों की सुनवाई जिला एवं सत्र न्यायाधीश उत्तम आनंद कर रहे थे..हाल ही दिनों में कुछ फैसले भी लिए थे जिनसे जोड़कर इसे हत्या की साजिश भी कही जा रही है..

वजह जो भी है को लेकिन खुलेआम सड़क पर जिस तरह एक ऑटो जज को टक्कर मारकर जान लेलेती है.. उस शहर की कानून व्यवस्था का अंदाजा आसानी से लगाया जा सकता है.