धर्मांतरण कर चुके लोग वापस अपने धर्म में शामिल होंगे:सरयू राय

झारखंड: सरना धर्म कोड संबंधी प्रस्ताव झारखंड विधानसभा इसी आसन्न सत्र में पारित करें और 2021 के जनगणना परिपत्र मे सरना धर्म कोड शामिल किया जाए। संबंधी अनुसंशा झारखंड सरकार केन्द्र सरकार को भेजें। ऐसा नही होने पर आगामी शीतकालीन सत्र झारखंड विधानसभा सत्र चलन नही दिया जाएगा।इस पर प्रतिक्रिया देते हुए विधायक सरयू राय ने कहा कि इस धर्म का फायदा तभी मिल सकेगा जब धर्मांतरण कर चुके लोग वापस अपने धर्म में शामिल होंगे। जो आदिवासी इसाई बने हैं उन्हें पहले सरना धर्म में वापस आने की जरूरत है और इसके लिए जरूरी है कि धर्मांतरण करने वाले तय करें कि उन्हें किस धर्म में रहना है। तभी यह कोड धर्म के रूप में विकसित हो सकेगा।