वैज्ञानिको ने खोजा दुनिया के सबसे खतरनाक जीव को खत्म करने का तरीका

जब बात दुनिया के सबसे खरनाक जीव की होती हैं. तब ज्यादातर लोग शेर या बाघ को सबसे खतरनाक जानवर बोलते हैं. लेकिन ऐसा बिलकुल भी नही हैं. दुनिया का सबसे खतरनाक जानवर आपके सामने और आपके साथ रहता हैं. अब आप सोच रहे होंगें की ऐसा कैसे हो सकता हैं. तो चलिए बिना वक्त को गवाएं.

Tiger, tiger…Aedes albopictus

आपने अक्सर अपने आसपास कुछ ऐसे जीवों को देखा होगा जो की हमेशा आपकी नज़रों के सामने रहते हैं. जीं हां आप बिलकुल सही सोच रहें हैं. दुनियां का सबसे खरनाक जानवर और कोई नहीं बल्कि मच्छर हैं. ये भलें ही आकार में छोटे हैं लेकिन इन्ही के कारण हम मलेरिया, डेंगू और चिकनगुनिया जैसी गंभीर बीमारियां का शिकार हो जाते हैं.

Aedes albopictus - Entomology Today

इन्ही मच्छरों के काटने से हर साल दुनियाभर में औसतन 7 लाख 25 हजार लोगों की मौत हो जाती है और इनसे सबसे ज्यादा प्रभावित बच्चे होते हैं. लेकिन अब वैज्ञानिक एक ऐसा कम कर रहे हैं, जिससे इन मच्छरों की प्रजाति दुनिया में कम हो जाएगी. लेकिन सवाल ये भी उठा हैं कि कहीं ऐसा न हो कि मच्छर धरती से खत्म ही हो जाएं?

Mosquitoes in Winter (what the..?) – envirobites

फ्लोरिडा इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर फर्नांडो जी. नोरीगा और उनकी टीम मच्छरों की प्रजनन संबंधी सेहत यानी रिप्रोडक्टिव फिटनेस को घटाने में लगे हैं. अगर मच्छरों की पैदा करने की क्षमता खत्म या कम हो जाएगी. तो कम मच्छर पैदा होंगे. इससे मच्छरों की आबादी में कमी आएगी. जिससे दुनिया को मच्छरों से फ़ैलाने वाली बीमारियों से निजात मिलेगा. लेकिन सवाल ये भी है कि कहीं मच्छरों की प्रजाति ही खत्म न हो जाए.

Insect bites: Reactions, types, and images
प्रो. फर्नांडो ने बताया कि हमने अंतरराष्ट्रीय वैज्ञानिकों के साथ मिलकर इस प्रोजेक्ट की शुरुआत की है. हम एक ऐसे हार्मोन का अध्ययन कर रहे हैं, जो मच्छरों की प्रजनन क्षमता को सक्रिय रखता है. इसके साथ ही उनके सेक्स संबंधी व्यवहार को बढ़ाता है. अगर हम इस हॉर्मोन की मात्रा मच्छरों में घटा दें, तो मच्छर प्रजनन करने लायक बचेंगे ही नहीं. उनकी सेक्स करने की इच्छा खत्म हो जाएगी. अगर होगी भी तो ज्यादा मच्छर पैदा नहीं होंगे.

Why Do Mosquito Bites Itch? | Britannica

प्रो. फर्नांडो जेनेटिकली मॉडिफाइड एडीस एजिप्टी मच्छरों को पैदा कर रहे हैं, जो इस हॉर्मोन को बना नहीं सकते. आपको बता दें की इन्हीं मच्छरों की वजह से आपको पीला बुखार, डेंगू और जीका जैसा बुखार आता हैं. ऐसा नहीं है कि ये मच्छर समभोग नहीं करेंगे और बच्चे पैदा नहीं कर पाएंगे. ये समभोग करेंगे लेकिन इनसे पैदा होने वाले मच्छरों से किसी तरह की बीमारी नहीं फैलेगी.

Buzzing research: Kao develops new mosquito repellent technology using  silicone oil

प्रोफेसर ने बताया कि हम फिलहाल उन हॉर्मोन को समझने की कोशिश कर रहे हैं. ताकि हम उसके जरिए मच्छरों को नियंत्रित कर सकें. यह होर्मोन्स सिर्फ मच्छरों में ही नहीं पाया जाता हैं बल्कि कई अन्य कीड़ों और मकोड़ों में पाया जाता है. हम उसके जरिए उनका भी नियंत्रण कर सकते हैं. उनकी आबादी पर विराम लगा सकते हैं. या फिर उन्हें किसी भी तरह की बीमारी फैलाने से रोक सकते हैं. मच्छरों के जिस हॉर्मोन की बात हो रही है, उसे मिथाइल फार्नीसोएट कहते हैं.

Why Do Mosquito Bites Itch? | Britannica

टीम के एक सदस्य का कहना हैं की MF हॉर्मोन जब मच्छर के अन्दर बनेगा ही नहीं तो उनका समभोग का मन नहीं होगा. अगर किसी वजह से हो भी जाता है तो उससे पैदा होने वाले बच्चे मच्छर भी जेनेटिकली मॉडिफाइड होंगे. वो किसी को अगर काटेंगे तो उससे बीमारियां नहीं फैलेंगी. क्योंकि हमने एडीज एजिप्टी के नर मच्छरों को प्रजनन करने लायक छोड़ा ही नहीं है.

Why Mosquitoes Like You The Most - Science in the News

.

साथ ही कुछ मादा म्यूटेंट मच्छर भी हैं, जो बाहर जाकर अगर किसी गैर-म्यूटेंट मच्छर के साथ प्रजनन की क्रिया करती हैं, तो उससे कोई फायदा नहीं होगा. गैर-म्यूटेंट मादा मच्छर आमतौर पर 100 अंडे देती हैं. लेकिन हमनें ऐसी व्यवस्था कर दी है कि अब वो सिर्फ 50 अंडे ही दे पाएगी.

 

STORY BY – UPASANA SINGH