दिल्ली में भीषण गर्मी! सड़कों पर दिखाई दी मृग मरीचिका, जानिये मौसम विभाग की भविष्यवाणी

राजधानी दिल्ली और उसके आसपास के इलाकों में बुधवार को पारा 42 डिग्री सेल्सियस पार कर गया। इससे लोगों को भीषण गर्मी का सामना करना पड़ा। मौसम विभाग ने कहा है कि अगले दो दिनों तक स्थिति इसी तरह बनी रहेगी।तापमान बढ़ने के कारण सड़कों मृग मरीचिका बनती है। यानी, गर्मियों में पृथ्वी का धरातल अधिक गर्म हो जाता है और उसके ठीक पास वाली वायु बहुत विरल होती है। वह वायु दूर से पानी की तरह नजर आती है। आंखों के इस भ्रम को ही मृग मरीचिका कहते हैं।

मौसम विभाग के मुताबिक, बृहस्पतिवार को भी दिल्ली का न्यूनतम तापमान 21 और अधिकतम 42 डिग्री सेल्सियस के बीच रहने की संभावना है। शुक्रवार को भी लगभग वैसा ही रहेगा। शनिवार को आंधी तूफान के साथ हल्की बारिश होने की आशंका है। इस साल भीषण गर्मी होगी और मई का पहला सप्ताह खासा गर्म रहने की आशंका है। इस दौरान बीच-बीच में आसमान में बादल नजर आ सकते हैं, लेकिन अभी जल्द बरसात की उम्मीद नजर नहीं आ रही है।

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने कहा है कि 30 अप्रैल और 1 मई को पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र और उससे सटे उत्तरी मैदानों पर गरज के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है. पश्चिमी विक्षोभ के कारण 29 अप्रैल तक कश्मीर, लद्दाख, गिलगित, बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के ऊपरी इलाकों में अलग-अलग वर्षा / बर्फबारी होने की संभावना है. रिपोर्ट्स के अनुसार 30 अप्रैल और 1 मई को पंजाब, उत्तर हरियाणा और उत्तर-पश्चिमी उत्तर प्रदेश के समीपवर्ती इलाकों में गरज के साथ  तेज हवाएं और बौछारें पड़ने के आसार हैं.
मौसम विभाग के अनुसार गुरुवारको उत्तराखंड के पर्वतीय इलाकों उत्तरकाशी, चमोली और पिथौरागढ़ जैसे जिलों में तेज गर्जना के साथ हल्की से लेकर मध्यम बारिश व बर्फबारी हो सकती है। रुद्रप्रयाग, देहरादून, टिहरी, बागेश्वर, अल्मोड़ा, चंपावत और नैनीताल जैसे जिलों में बहुत हल्की तो कहीं तेज गर्जना के साथ मध्यम बारिश के आसार हैं।
स्माईमेट वेदर की रिपोर्ट के मुताबिक, गुरुवार को केरल, कर्नाटक और असम में हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक दो स्थानों पर तेज वर्षा हो सकती है. सिक्किम, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, उत्तरी तटीय आंध्र प्रदेश, दक्षिण छत्तीसगढ़ के कुछ हिस्सों, जम्मू-कश्मीर, गिलगित बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद, हिमाचल प्रदेश और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में हल्की से मध्यम बारिश और गरज-चमक के साथ बौछारें संभावित हैं.

बात अगर एक झारखण्ड की करें तो राजधानी रांची सहित आसपास के इलाकों में गुरुवार से मौसम का मिजाज बदल रहा है। 29 अप्रैल से चार मई तक आसमान में बादल रहेंगे। तेज हवा और गरज के साथ बारिश की संभावना बनी हुई है। इस दौरान अधिकतम तापमान 35 डिग्री सेल्सियस से 39 डिग्री सेल्सियस के आसपास बना रह सकता है।