अरब सागर से उठा प्रचंड चक्रवात तौकते तट से टकराने के बाद पड़ा कमजोर

अरब सागर से उठा प्रचंड चक्रवात तौकते आखिरकार अब कमजोर पड़ने लगा है. केरल से कर्नाटक, गोवा होते हुए महाराष्ट्र से गुजरात में भयंकर तबाही मचाने के लिए चक्रवाती तूफान तौकते की रफ्तार कम हो गई है, लेकिन तौकते तूफान कई जगहों पर तबाही के निशान छोड़ गया है. तौकते तूफान से आई भयानक हवाएं, समंदर की उठी ऊंची लहरें और फिर तेज बारिश में कई शहरों में कहर बरपाया. अब तक गुजरात में कई लोगों की मौत हो चुकी है तो महाराष्ट्र में 6 लोग मर चुके हैं. अनगिनत पेड़ों को नुकसान पहुंचा है. कहीं घरों की छतें उड़ गईं तो कहीं मकान ही ढह गए. फिलहाल चक्रवात तौकते लगभग गुजरात से गुजर गया है,
मुंबई में तो सोमवार को 21 साल का बारिश का रिकॉर्ड ही टूट गया. कल वहां 200 एमएम बारिश हुई।.मुंबई के गेटवे ऑफ़ इंडिया के पास ऊँची उठती  लहरें  आपके रौगते खड़ी कर सकती है. महाराष्ट्र में चक्रवात तौकते की चपेट में आए मुंबई तट के दो जहाजों पर कम से कम 410 लोग फंसे हैं, जिन्हें बचाने के लिए भारतीय नौसेना को लगाया गया.. इस चक्रवात में एक जहाज के दूबने की खबर है.

मुंबई में तूफान के कारण 6 लोगों की मौत, 9 लोग घायल हुए. मुंबई में हवाओं की रफ्तार 70 से 80 किमी प्रति घंटे थी, मगर कोलाबा इलाके में सबसे तेज 108 किमी प्रति घंटे की गति से हवा चली

गुजरात मेंतूफ़ान तौकते का असर सबसे ज्यादा देखने को मिल रहा है अभी तक नुकसान का अंदाजा भी नही लगाया जा सका है.. क्योंकि तबाही का दौर अभी भी जारी है. पेड़ गिरने, घर गिरने से या तूफ़ान की चपेट में आने गुजरात में कई लोगो की मौत हो व्हुकी है. अब ये तूफ़ान सौराष्ट्रा की तरह बढ़ रहा है.
मंगलवार सुबह केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने तीन राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बातचीत की। उन्होंने तीनों सूबों को आश्वासन दिलाया कि उन्हें केंद्र से हर संभव मदद मिलेगी।
मौसम विभाग ने बताया है कि गुजरात में तबाही मचाने के बाद से तौकते चक्रवात कमजोर पड़ता हुआ नजर आ रहा है। तौकते ने गुजरात, महाराष्ट्र समेत दक्षिण पश्चिम राज्यों में खूब तबाही मचाई है। भारतीय नौसेना और एनडीआरएफ लगातार बचाव अभियान चला रहे हैं।