27 साल में 25 बार माउंट एवरेस्ट की चोटी फतह कर चुके है शेरपा गाइड कामी रीता

माउंट एवरेस्ट.. दुनिया की सबसे ऊँची छोटी.. बहुत से लोग तो इसी सपने के साथ दुनिया को अलविदा कह जाते हैं कि उन्हें माउन्ट एवरेस्ट पर चढ़ना है.. कई तो आधे रास्ते से वापस हो जाते हैं लेकिन क्या आप यकीन कर पायेंगे कि एक व्यक्ति 27 साल में 25 बार माउंट एवरेस्ट पर चढ़ाई कर चुका है,

शेरपा गाइड कामी रीता वो व्यक्ति है जो एक बार नही दो बार नही बल्कि 27 साल में 25 बार माउंट एवरेस्ट की चोटी फतह कर चुके हैं. नेपाली पर्यटन मंत्रालय के मुताबिक शेरपा गाइड कामी रीता ने शुक्रवार शाम 6 बजे एवरेस्ट की चोटी को फतह किया। 51 साल की उम्र में एवरेस्ट पर ये उनकी 25 चढ़ाई थी। उनकी मदद के लिए 11 और शेरपा भी चोटी पर पहुंचे। नेपाली अधिकारियों ने बताया कि कामी ने पहली बार 1994 में एवरेस्ट को फतह किया था। इसके बाद पिछले 27 सालों में वो 25 बार चोटी पर सकुशल पहुंचे। इतनी बार एवरेस्ट की यात्रा करने की वजह से अब वो पूरे इलाके के एक्सपर्ट बन गए हैं।

रीता कामी अपनी शौक के लिए माउंट एवरेस्ट पर नही जाते बल्कि वे इसलिए जाते हैं ताकि वे पर्वतारोहियों की मदद कर सकें. रीता कामी हर साल चढ़ाई शुरू होने से पहले अन्य शेरपा के साथ एवरेस्ट की चोटी पर जाते हैं, ताकी रास्ते में रस्सियां लगा सकें। इन्हीं रस्सियों के सहारे पर्वतारोही सुरक्षित तरीके से चढ़ाई कर पाते हैं।

रीता कामी के लिए ये सफर आसान नहीं रहा है. 2015 में जब वो एवरेस्ट के बेस कैंप पर मौजूद थे. उसी समय में हिमस्खलन में 19 लोगों की मौत हो गई थी. इस हादसे के बाद परिवार ने उन पर पर्वतारोहण छोड़ने का दबाव बनाया था. लेकिन वे नही माने और अब उनके नाम एक बड़ा रिकॉर्ड दर्ज हो गया है. रीता कामी का डिमांड इसलिए भी बढ़ गया है क्योंकि माउंट एवरेस्ट के लगभग हर कोने को अच्छे से पहचान  गये हैं और खतरनाक और मुश्किल रास्तों को हल निकाले लेते हैं.