भाजपा नेता जीतराम मुंडा हत्याकांड मामले में एसआईटी का गठन, रात भर चली छापेमारी

रांची: रांची के ओरमांझी में भाजपा नेता जीतराम मुंडा की हत्या मामले की जांच के लिये एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा ने एसआईटी गठित की है। रांची के ग्रामीण एसपी नौशाद आलम के नेतृत्व में एसआईटी गठित की गई है। एसआईटी ने मामले की जांच शुरू कर दी है। इस मामले में पुलिस मनोज नामक युवक को खोज रही है। मनोज ने चार साल पहले जीतराम पर गोली चलाई थी। गठित एसआईटी में ओरमांझी डीएसपी, इंस्पेक्टर व अन्य को शामिल किया गया है।

उल्लेखनीय है कि भाजपा नेता जीतराम मुंडा पर करीब चार साल पहले भी गोली चली थी, जिसमें जीतराम बाल बाल बच गया था। जीतराम ने अपनी सुरक्षा को लेकर आर्म्स लेने के लिए आवेदन भी दिया था लेकिन आर्म्स नहीं मिला था। जीतराम पर गोली मनोज नामक व्यक्ति ने चलाई थी। रांची पुलिस को मनोज की तलाश है लेकिन वह फरार है। रांची पुलिस मनोज के घर भी पहुंची थी। रात से ही पुलिस अलग-अलग स्थानों पर छापेमारी कर रही है।जीतराम ने ओरमांझी थाने में साहेर निवासी मनोज मुंडा के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई थी। जीतराम मुंडा ओरमांझी का पुंदाग निवासी है। जीतराम मुंडा ने तब बताया था कि मनोज मुंडा पत्नी की हत्या का आरोपित है। उसने अपनी पत्नी की हत्या 2015 में कर दी थी। इसी आरोप में वह जेल चला गया था। मनोज बेल पर बाहर आया है, इसलिए वह उन्हें खत्म कर देना चाहता है।

उल्लेखनीय है कि राजधानी रांची के ओरमांझी थाना क्षेत्र के पालू स्थित आर्यन लाइन होटल में बुधवार की रात बाइक सवार दो अपराधियों ने भाजपा एसटी मोर्चा के जिला अध्यक्ष जीतराम मुंडा की गोली मारकर हत्या कर दी थी। मृतक जीतराम मुंडा रूपा तिर्की प्रकरण में ब्लॉक चौक पर बंधु तिर्की का पुतला दहन करने के बाद वापस अपने घर लौट रहे थे। वह आर्यन होटल में रुककर चाय पी रहे थे। इसी दौरान बाइक सवार दो अपराधी वहां पहुंचे और सड़क किनारे गाड़ी खड़ी कर एक अपराधी पीछे से उनके करीब जाकर कनपटी में गोली मार दी। आनन-फानन में जीतराम मुंडा को मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया।

भाजपा एसटी मोर्चा के जिला अध्यक्ष जीतराम मुंडा का ओरमांझी स्थित एनएच पर शक्ति ढाबा भी है। जीतराम मुंडा प्रतिदिन होटल पहुंचते थे और काम खत्म कर वहां से वापस रजरप्पा स्थित ससुराल चले जाते थे। बताया जाता है कि मनोज द्वारा गोली चलाये जाने के बाद से ही वह रात में रजरप्पा चले जाते थे। ग्रामीण एसपी नौशाद आलम ने कहा है कि इस मामले की जांच की जा रही है। अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए संभावित ठिकानों पर छापेमारी की जा रही है। नौशाद आलम ने बताया कि दो साल पहले मृतक जीत राम मुंडा पर जिन अपराधियों ने गोली चलाया था, उनसे पूछताछ करने के लिए उसकी तलाश की जा रही है। एसपी ने कहा कि अपराधियों को जल्द ही गिरफ्तार कर इस मामले की खुलासा कर लिया जाएगा। पुलिस कई बिंदुओं पर जांच कर रही है।