इस देश में मिला इंसानों में पहला बर्ड फ्लू का मामला, खतरनाक!

आपने अब तक यही सुना होगा की बर्ड फ्लू सिर्फ पक्षियों या फिर जानवरों को ही अपना शिकार बनाती है. लेकिन पहली बार बर्ड फ्लू का मामला इंसानों में भी देखने को मिला है. दरअसल, रूस में  इंसानों में भी बर्ड फ्लू के वायरस की पुष्टि हुई है. जिसके बाद से स्वास्थ्य विशेषज्ञों की चिंता और बढ़ गई है. इसकी जानकारी रूस की ओर से विस्व स्वास्थ्य संगठन को भी दी गई है.

Image result for इस देश में मिला इंसानों में पहला बर्ड फ्लू का मामला, खतरनाक!

न्यूज एजेंसी रॉयटर्स ने रूस के एक स्वास्थ्य अधिकारी के हवाले से बताया है कि 2020 में रूस के दक्षिणी हिस्से में बर्ड फ्लू का कहर देखा गया है. यहां के पॉल्ट्री प्लांट के 7 कर्मचारी एवियन इन्फ्लूएंजा वायरस से संक्रमित मिले है. उनका इलाज चल रहा है और इसमें लगातार सुधार भी देखने को मिल रहा है. हालांकि अभी भी बर्ड फ्लू संक्रमितों में हल्के लक्षण दिखाई दे रहे है.

रूस की स्वास्थ्य अधिकारी के मुताबिक, इन लोगों में से दूसरे लोगों में वायरस फैलने का कोई संकेत अभी नहीं मिला है. सभी संक्रमितों को आइसोलेशन में रखा गया है और इनके संपर्क में आने वाले सभी लोगों को ट्रेस करने की कोशिश जारी है.

Image result for इस देश में मिला इंसानों में पहला बर्ड फ्लू का मामला, खतरनाक!

इंसानों में बर्ड फ्लू के ज्यादातर संक्रमण के मामले संक्रमित जीवित या मृत पोल्ट्री उत्पादों के साथ सीधे संपर्क में आने से जुड़े हुए हैं. बर्ड फ्लू जंगली पक्षियों के पलायन से फैलते हैं. बता दें कि मानवों में बर्ड फ्लू के संक्रमण का पहला मामला साल 1997 में आया था जब हॉन्ग-कान्ग में मुर्गियों से एक शख्स में यह वायरस फैला था.हालांकि WHO का दावा है कि बर्ड फ्लू आमतौर पर इंसानों को संक्रमित या प्रभावित नहीं करता है.