कालाबाजारी रोकने के लिए सार्थक प्रयास होना चाहिए : सांसद

मेदिनीनगर: मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की अध्यक्षता में पलामू एवं संथाल परगना प्रमंडल के सांसदों एवं विधायकों के साथ कोविड-19 महामारी के रोकथाम के विषयों पर वर्चुअल मीटिंग में हुई। पलामू सांसद ने पलामू संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत दोनों जिले पलामू एवं गढ़वा की वर्तमान स्थितियों में सुधार करने हेतु आवश्यकताओं एवं अपने सुझावों से उन्हें अवगत कराया। सांसद ने मीटिंग को बुलाने के लिए सर्वप्रथम मुख्यमंत्री को धन्यवाद देते हुए कहा आज पूरा देश कोरोना जैसी महामारी से जूझ रहा है। पलामू प्रमंडल भी इससे अछुता नही है।
कोरोना को लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में प्रचार-प्रसार करने की आवश्यकता है कि टीकाकरण क्यों आवश्यक है। सांसद ने कहा कि कोरोना संक्रमित मरीजों में छह से आठ प्रतिशत अस्पताल में भर्ती हो रहे हैं जबकि यह संख्या दो से तीन प्रतिशत से अधिक नही होनी चाहिए। खाली बेडाें की अद्यतन स्थिति की जानकारी सार्वजनिक करना चाहिए। मरीज सदर अस्पताल में भर्ती होने के लिए आते हैं। यदि सदर अस्पताल में बेड खाली नहीं हाे तो वहां पर उस मरीज को यह जानकारी देने की व्यवस्था होनी चाहिए कि किस अस्पताल में जगह खाली है और उसे वहाँंएम्बुलेंस के माध्यम से ले जाने की व्यवस्था होनी चाहिए।