80 साल के बुजुर्गों पर भी काम कर गई कोरोना की ये नई वैक्सीन गई!यहां पढ़े इसके बारे में सारी जानकारी

कोरोना महामारी के बीच इसके वैक्सीन को लेकर आए दिन अच्छी ख़बरें सामने रही है.इसी कड़ी में कथित रूप से कोरोना फैलाने वाले देश चीन से एक अच्छी आई है.

दरअसल,चीन की एक नई कोरोना वायरस वैक्सीन का एंटीबॉडी पर अच्छा रिस्पॉन्स देखने को मिला है. इसकी एक रिपोर्ट ‘दि लैंसेट इंफेक्शियस डिसीज जर्नलमें भी प्रकाशित हुई है

coronavirus vaccine china: corona ka tika kab tak aayega: चीन के कोरोना  वायरस टीके का इंसानों पर सफल परीक्षण पूरा

चीन में इस वैक्सीन कैंडिडेट का ट्रायल 29 अप्रैल से 30 जुलाई के बीच किया गया था. इस वैक्सीन की स्टडी मेंबीजिंग इंस्टिट्यूट ऑफ बायोलॉजिकल प्रोडक्ट्ससहित कई बड़े संस्थानों के शोधकर्ताओं ने हिस्सा लिया था. रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, शुरुआत स्टेज के ट्रायल में हिस्सा लेने वाले सभी 42 वॉलंटियर्स में एंटीबॉडी का काफी अच्छा रिस्पॉन्स देखने को मिला है.

एक रिपोर्ट में शोधकर्ताओं ने दावा किया है कि ये वैक्सीन ना सिर्फ प्रभावशाली है, बल्कि पूरे ट्रायल के दौरान किसी भी वॉलंटियर में अभी तक इसके कोई घातक साइड इफेक्ट देखने को नहीं मिले हैं. इस वैक्सीन ट्रायल में 18 साल से लेकर 80 साल की उम्र के 600 से अधिक वॉलंटियर्स को शामिल किया गया था, इनमें से अभी तक किसी भी वॉलंटियर्स में कोई साइड इफेक्ट देखने को नहीं मिला है. 

Coronavirus vaccine WHO Latest News Proposed Covid Tika distribution among  countries : कब, कैसे और किसको मिलेगा कोरोना का टीका, WHO ने बनाया प्रोटोकॉल

हालंकि शोधकर्ताओं ने कहा है कि ये वैक्सीन कोरोना के मरीज को बचाने के लिए पर्याप्त है, इस बारे में अभी स्पष्ट नहीं कहा जा सकता है

यहां आपकी जानकारी के लिए बता दें कि चीन में कोरोना वैक्सीन बनाने के रेस में चार वैक्सीन सबसे आगे है, जो अभी क्लीनिकल ट्रायल के अंतिम चरण में हैं. इनमें से तीन वैक्सीन तो जुलाई में शुरू हुए आपातकालीन कार्यक्रम के तहत जरूरतमंद वर्कर्स के लिए उपलब्ध भी कराया जा रहा है.वही WHO के मुताबिक, दुनिया भर में क्लीनिकल ट्रायल में लगभग 40 से ज्यादा वैक्सीन पर परीक्षण जारी है. ऐसे में कोरोना की जल्द ही कारगर वैक्सीन आने की उम्मीद और बढ़ जाती है.