केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान का 74 साल की उम्र में निधन

लोक जनशक्ति पार्टी के संस्थापक और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने कल 74 साल की उम्र में इस दुनिया को अलविदा कह दिया. रामविलास पासवान काफी वक्त से बीमार चल रहे थे और दिल्ली एक अस्पताल में उनका काफी वक्त से इलाज चल रहा था. पासवान के निधन पर उनके सम्मान में आज राजकीय शोक की घोषणा की गई है. इस दौरान राष्ट्रीय ध्वज आज आधा झुका रहेगा.

वहीँ मंत्रिमंडल एक सदस्य के निधन से पीएम मोदी काफी आहत दिखे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रामविलास पासवान को श्रद्धांजलि देने उनके दिल्ली के आवास 12 जनपथ पहुंचे. इस दौरान उन्होंने रामविलास की पत्नी और बेटे को सांत्वना दी. इस दौरान उनके साथ केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद और गिरिराज सिंह के अलावा बीजेपी अध्यक्ष जे पी नड्डा भी मौजूद रहे.

प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट किया, ‘दुख को जाहिर करने के लिए मेरे पास शब्द नहीं है। देश में ऐसी खाली जगह बनी है जो शायद कभी भी न भर पाए। राम विलास पासवान का निधन मेरे लिए निजी क्षति है। मैंने एक दोस्त, मूल्यवान सहयोगी और एक ऐसे शख्स को खो दिया जो हर गरीब से गरीब व्यक्ति को सम्मानजनक जीवन की तरफ बढ़ाने के लिए बेहद जुनूनी थे।’

एक और ट्वीट करते हुए पीएम ने लिखा कि ‘रामविलास पासवान जी कड़ी मेहनत और दृढ़ता की वजह से सियासत में ऊंचे उठे। एक युवा नेता के तौर पर उन्होंने इमर्जेंसी के दौरान हमारे लोकतंत्र पर आघात और अत्याचार के खिलाफ प्रतिकार किया। वह एक उत्कृष्ट सांसद और मंत्री थे जिन्होंने कई नीतिगत क्षेत्रों में योगदान दिया।’

पीएम मोदी के साथ साथ सभी केन्द्रीय मंत्री और नेताओं ने रामविलास पासवान के निधन पर दुःख जाहिर किया है.

रामविलास पासवान आठ बार लोकसभा के सदस्य चुने गए और कई बार हाजीपुर संसदीय सीट से सबसे ज्यादा वोटों के अंतर से जीतने का रिकॉर्ड अपने नाम किया. वह वीपी सिंह, एचडी देवे गौड़ा, इन्द्र कुमार गुजराल, अटल बिहारी वाजपेयी, मनमोहन सिंह और वर्तमान में नरेंद्र मोदी के मंत्रिमंडल में मंत्री रहे हैं. वह आठ बार लोकसभा के सदस्य चुने गए पासवान 1989 से 90 के बीच वीपी सिंह सरकार में केंद्रीय श्रम और कल्याण मंत्री, 1996 से 1997 में देवगौड़ा सरकार में रेलमंत्री, 1997 से 1998 में गुजराल सरकार में रेलमंत्री, 1991 से 2001 में वाजपेयी सरकार में सूचना प्रसारण मंत्री, 2001 से 2002 में वाजपेयी सरकार में ही कोयला और खान मंत्री, 2004 से 2009 में मनमोहन सरकार में रसायन एवं उर्वरक मंत्री और 2014 से 2019 में मोदी सरकार में उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री और 2019 से अब तक मोदी सरकार में उपभोक्ता मामलों के मंत्री रहे।

बिहार के दिग्गज नेताओं में गिने जाने वाले रामविलास पासवान के निधन पर पर्यावरण पोस्ट उन्हें श्रधांजली देता है.