नही रहे राम विलास पासवान, दिल्ली के अस्पताल में ली अंतिम सांस

केन्द्रीय मंत्री रामविलास का निधन हो गया है. वे काफी लंबे समय से बीमार चल रहे थे. दिल्ली के एक अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था. रामविलास पासवान के निधन की खबर की पुष्टि खुद उनके बेटे और सांसद चिरान पासवान ने की है. चिराग पासवान ने ट्वीटर पर लिखा कि “पापा….अब आप इस दुनिया में नहीं हैं लेकिन मुझे पता है आप जहां भी हैं हमेशा मेरे साथ हैं. Miss you Papa…”.

इससे पहलेचिराग पासवान ने 4 अक्टूबर के अपने ट्वीट में लिखा था, “पिछले कई दिनों से पापा का अस्पताल में इलाज चल रहा है. कल शाम अचानक उत्पन्न हुई परिस्थितियों की वजह से देर रात उनके दिल का ऑपरेशन करना पड़ा. ज़रूरत पड़ने पर संभवतः कुछ हफ्तों बाद एक और ऑपरेशन करना पड़े. संकट की इस घड़ी में मेरे और मेरे परिवार के साथ खड़े होने के लिए आप सभी का धन्यवाद.”

रामविलास पासवान के निधन की खबर से राजनीतिक जगत में शोक की लहर है। सभी दलों के नेताओं ने रामविलास पासवान के निधन पर दुख व्यक्त किया है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि देश ने एक विज़नरी नेता को खो दिया है। राष्ट्रपति ने कहा- वह संसद में सबसे सक्रिय और लंबे समय तक सेवा करने वाले सदस्यों में से एक थे। वह दबे कुचलों की आवाज थे।

कब-कब कैबिनेट मंत्री रहे

1989- श्रम कल्याण मंत्री

1996- रेल मंत्री

1996- संसदीय मामलों के मंत्री

1999- संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री

2001- कोयला और खदान मंत्री

2004- रसायन व उर्वरक, स्टील मंत्री

2014 और 2019- उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय और पीडीएस