वाराणसी : क्या जल्द आजाद हो पायेगा हत्या के जुर्म में कैद “मिट्ठू”?

खबर प्रधानमंत्री मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी की है. जहाँ एक हाथी पर हत्या का केस दर्ज है और उसे जंजीरों से जकड़ कर रखा गया है. बताया जा रहा है कि 20 अक्टूबर 2019 को मिट्ठू नाम का हाथी  मेले में गया था.. जहाँ कुछ लोगों ने इसके साथ मजाक किया और इससे गुस्सा आ गया.. गुस्से में हाथी ने लोगों पर हमला कर दिया और इस हमले रमाशंकर नाम के एक शख्स की मौत हो गयी .

रमाशंकर के परिजनों ने हाथी और हाथी के महावत के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था. इसके बाद हाथी और महावत दोनों गिरफ्तार भी किए गए थे. महावत को जेल भेज दिया गया, जबकि हाथी को वाराणसी के रामनगर स्थित वन्य जीव संरक्षण विभाग को सौंप  दिया गया और तब से वह बेड़ियों में जकड़ा हुआ है. कहा जा रहा है कि जब इस हाथी को बेड़ियाँ पहनाई गयी है तब से वो बैठा नही है..  महावत जेल से बाहर आ गया लेकिन हाथी अभी भी कैद है..

लेकिन जल्द ही हाथी को आजादी मिलने वाली है.. इसे आजादी दिलाने में अहम् रोल निभा रहे है वाराणसी के पुलिस कमिश्नर ए सतीश गणेश.. दरअसल उन तक ये जानकारी पहुंचाई गयी कि एक हाथी लगभग एक साल से कैद करके रखा हुआ है.. इसके बाद उन्होंने वन्य विभाग के कुछ लोगों से बात की और अब कहा जा जल्द ही हाथी मिठ्ठू को वाराणसी से दुधवा नेशनल पार्क भेजा जा सकता है.