कोल ब्लॉक की नीलामी को रद्द करने के लिए ग्रामीणों ने सीएम को सौंपा ज्ञापन

लातेहार: बालूमाथ प्रखंड अंतर्गत चितरपुर के ग्रामीणों ने चितरपुर कोल ब्लॉक की नीलामी को रद्द करने को लेकर राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को ज्ञापन सौंपा है । पत्र अनुसार ग्रामीणों का कहना है कि चितरपुर ग्राम में किसी भी तरह के सामाजिक एवं आर्थिक मूल्यांकन नहीं किया गया है और ना ही ग्राम सभा कर हम ग्रामीणों का समिति बिना ही केंद्र सरकार ने चितरपुर कोल ब्लॉक का नीलामी दिनांक 20,6 ,2020 व्यवसायिक खनन के लिए दिया है जो संविधान 5वीं अनुसूची के प्रधानों एवं पेशा कानून 1996 और वन अधिनियम कानून 2006 के प्रावधानों का घोर उल्लंघन है। ज्ञापन में ग्रामीणों का यह भी कहना है कि हम ग्रामसभा चितरपुर के सभी सदस्य अभिजीत ग्रुप कंपनी को आवंटित कोयला खदान का विरोध शुरू से ही करते रहे हैं। इस कोयला खनन से यहां से जल ,जंगल , जमीन और लोगों पर गलत प्रभाव पड़ने का बात कहते हुए लोगों ने झारखंड राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन सहित लातेहार जिला के उपायुक्त एवं पुलिस अधीक्षक को चितरपुर कोल ब्लॉक का नीलामी पर तत्काल रोक लगाकर रद्द करने की अपील किया है। इस दौरान मुख्य रूप से ग्राम प्रधान नेसरा उरांव, हनूप एक्का, शंभू उरांव, मंगल देव उरांव, नारायण उरांव, अनूप उरांव, शुभम उरांव ,बनारस उरांव उपस्थित थे