उल्टी-दस्त हैं कोविड के नए लक्षण? जानिए कैसे पता करें कि फूड पॉइजनिंग हुई है या कोरोना

लगभग पूरी दुनिया में कोरोना वायरस ने जमकर कहर बरपाया। चीन से शुरू हुआ ये वायरस आज लगभग हर देश में अपने पैर पसार चुका है। चीन समेत कई अन्य देशों में इसकी कई लहर अब तक आ चुकी है। कोरोना वायरस एक बार फिर अपने पैर पसार रहा है। दिल्ली, मिजोरम, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और केरल के बाद राजस्थान में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ रही है। इस बार मरीजों में उल्टी-दस्त, यानी डायरिया की समस्या भी देखी जा रही है। माना जा रहा है कि उल्टी-दस्त कोरोना के नए लक्षण हैं।  चलिए जानते हैं कि अगर आप ऐसे लक्षण खुद में देख रहे हैं, तो कैसे आप कोरोना और फूड पॉइजनिंग में अंतर कर सकते हैं।

पहले फूड पॉइजनिंग के लक्षण जान लीजिए

गर्मी के मौसम में फूड पॉइजनिंग एक आम बीमारी है। इस समय खाना आसानी से खराब हो जाता है और कई बार लोग इसे खा लेते हैं। गलत खानपान, बासी खाना या खराब खाना खाने के कारण ही आपको फूड पॉइजनिंग की समस्या हो सकती है।

जी मिचलाना

पेट में ऐंठन

उल्टी

दस्त

बुखार

कमजोरी

सिरदर्द

भूख में कमी

अगर आप फूड पॉइजनिंग से बचना चाहते हैं, तो आपको ध्यान रखना है कि अपने घर में पालतू जानवरों को अपने खाने से दूर रखें और ध्यान दें कि वो इसमें मुंह न मारे, पके हुए खाने को बार-बार गर्म करके न खाएं, बासी खाने का सेवन न करें, घर का ताजा पका हुआ खाना खाएं, फ्रिज में आटे को गूंथकर रखने की जगह ताजा आटा गूंथे आदि

कोरोना के ये हैं लक्षण:-

ठंड लगना

खांसी-बुखार

गले में दर्द

सांस लेने में दिक्कत

गंध न आना

पेट में दर्द

जी मिचलाना

उल्टी-दस्त आदि।

उल्टी-दस्त हो रहे हैं तो कैसे पता चलेगा कि ये कोरोना है या फूड पॉइजनिंग

 किसी व्यक्ति को उल्टी-दस्त की समस्या है तो वो डॉक्टर को दिखाए। फिर भी, मन में शंका है कि उसे कोरोना है या नहीं, तो वो अपना कोविड टेस्ट करा ले। इससे क्लियर हो जाएगा उसे डायरिया है या कोरोना।

हलके में न ले

उल्टी-दस्त को हल्के में लेना ठीक नहीं है। इससे छोटे बच्चों और बुजुर्गों की तबीयत ज्यादा खराब हो रही है। कई बार इसकी वजह से मरीजों को हॉस्पिटल में भी एडमिट करना पड़ता है। चूंकि, इन दिनों कोरोना के एक लक्षण में उल्टी-दस्त भी शामिल है, ऐसे में लापरवाही महंगी पर सकती है।