Weather Update: अक्टूबर के दूसरे हफ्ते के अंत तक विदा होगा मॉनसून,जानें आपके शहर में बारिश होगी या नहीं

मॉनसून अपनी विदाई की तरफ बढ़ रहा है, लेकिन जाते-जाते इस बार खूब बरस भी रहा है. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली समेत एनसीआर में अगले 4-5 दिनों तक बारिश होने के आसार जताए गए है. इस दौरान बारिश की तीव्रता कभी कम तो कभी तेज हो सकती है. आज मंगलवार को अधिकतम तापमान 35 और न्यूनतम तापमान 26 डिग्री रह सकता है.

एक्सपर्ट के अनुसार मॉनसून अब अपने अंतिम पड़ाव पर है. राजधानी में बहुत अधिक बारिश की संभावना नहीं है. बारिश हुई तो भी बहुत हल्की ही होगी. अक्टूबर की शुरुआत पूरी तरह शुष्क नहीं रहेगी. यहां मॉनसून के अक्टूबर के दूसरे हफ्ते के अंत तक विदा होने की संभावना बन रही है.

हालांकि मौसम का मिजाज शुष्क होते ही राजधानी में प्रदूषण बढ़ने लगा है. पिछले कई दिनों से राजधानी की हवा संतोषजनक स्तर पर बनी हुई थी, लेकिन सोमवार को प्रदूषण स्तर कुछ बढ़ा है. जिसकी वजह से एक्यूआई 100 के ऊपर पहुंचकर सामान्य स्थिति में पहुंच गया है.

रविवार देर रात गुलाब चक्रवात तूफान दक्षिण आंध्र प्रदेश और उड़ीसा के तटीय इलाकों में टकराया है, जिससे इसकी तीव्रता अब कम हो गई है. लेकिन इसका असर आंध्र प्रदेश, ओडिशा, तेलंगाना, महाराष्ट्र के कई जिलों में देखने को मिल सकता है. आज मंगलवार को मुंबई, ठाणे और पालघर में तेज हवाओं के साथ मूसलाधार से अति मूसलाधार बारिश होने की संभावना है. 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड से हवाएं भी चल सकती हैं. इसके साथ ही कोकण में अगले तीन दिनों तक मछुआरों को समुद्र में न जाने की चेतावनी दी गई है. तेलंगाना के लिए मौसम विभाग ने रेड अलर्ट जारी करते हुए चेतावनी दी कि अगले 48 घंटों में राज्य के 14 जिलों में अलग-अलग स्थानों पर भारी बारिश की संभावना है.

आंध प्रदेश के विभिन्न जिलों में सोमवार को जबरदस्त बारिश हुई. बारिश के कारण एक व्यक्ति की मौत के साथ ही वर्षा से जुड़ी घटनाओं में मरने वालों की संख्या बढ़ कर 2 हो गई है. चक्रवात के कारण नौ मवेशियों की भी मौत हो गयी. चक्रवात के कारण उखड़े पेडों को सड़कों से हटा दिया गया है और क्षतिग्रसत बिजली लाइनों को ठीक कर दिया गया है. उत्तरी तटीय आंध्र में मध्यम से भारी बारिश का अनुमान है.

अगर बात झारखंड के मौसम की करें तो झारखंड के कई इलाकों में मंगलवार से फिर मौसम बदलेगा और दो दिन कहीं-कहीं अच्छी बारिश हो सकती है. झारखंड के दक्षिणी और मध्य क्षेत्र में 29 और 30 सितंबर को भारी बारिश हो सकती है. इसको लेकर विभाग ने यलो अलर्ट भी जारी किया है. मौसम विभाग की मानें तो ऐसा बंगाल की खाड़ी में बने साइक्लोनिक सरकुलेशन के निम्न दबाव के क्षेत्र में और फिर डीप डिप्रेशन में बदलने की वजह से होगा.