कैसा रहेगा मौसम का हाल! जानिये कहाँ बाढ़ से डूब रहे हैं घर और श्मशान?

देश के कई राज्यों में मुसलाधार बारिश हो रही है तो कहीं जगहों पर सूखे जैसे हालात बने हैं. आइये जानते हैं देश के मौसम का मिजाज
राजधानी दिल्ली में रविवार को कई जगहों पर बारिश हुई और उसके बाद उमस से लोग परेशान हो गए। आज भी यहां हल्की बारिश होने की संभानवा जताई जा रही है। मौसम विभाग ने कहा है कि अगले कुछ घंटे में दिल्ली एनसीआर में हल्की से मध्यम बारिश देखने की मिलेगी। बारिश के लिए मौसम विभाग की ओर से सोमवार को यलो अलर्ट भी जारी किया गया है। सोमवार को अधिकतम और न्यूनतम तापमान क्रमश: 34 और 26 डिग्री सेल्सियस रह सकता है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) द्वारा जारी एयर क्वालिटी बुलेटिन के अनुसार रविवार को भी एनसीआर की हवा कहीं संतोषजनक तो कहीं मध्यम श्रेणी में दर्ज की गई।हालांकि सफर इंडिया का कहना है कि रविवार के बाद सोमवार को भी बारिश की संभावना के मददेनजर अभी दो तीन दिन वायु प्रदूषण मध्यम श्रेणी तक ही रहेगा, इससे ऊपर नहीं।

मध्य प्रदेश, राजस्थान, उत्तर प्रदेश और बिहार समेत देश के कई राज्य भारी बारिश का सामना कर रहे हैं। कई इलाके बाढ़ की चपेट में हैं। राजस्थान के कोटा, बारां, बूंदी, झालावाड़ और धौलपुर में बाढ़ ने काफी तबाही मचाई है। कोटा संभाग में अब तक 12,900 मकान ढह चुके हैं, जबकि 27 लोगों की मौत हुई है। वहीं, बूंदी में 12, कोटा में 6, बारां में 7 और झालावाड़ में 2 मौतें हुई हैं। MP में बाढ़ की चपेट में आए ग्वालियर और चंबल में बारिश से जुड़ी घटनाओं में मरने वालों की संख्या 24 हो गई है। अगले 24 घंटों के दौरान भोपाल, ग्वालियर, चंबल और सागर बेल्ट में कहीं तेज और कहीं हल्की बारिश होने का अनुमान है।

पश्चिम बंगाल में दामोदर घाटी निगम बांध से पानी छोड़े जाने के कारण कम से कम 6 जिले बाढ़ का सामना कर रहे हैं। बिहार में बक्‍सर से लेकर पटना तक गंगा नदी का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है। बक्‍सर और भोजपुर में शुक्रवार को ही गंगा खतरे के निशान से पार चली गई।

एक बार फिर से चर्चा में Dabbu Uncle,लेकिन इस बार उनके साथ हुआ बड़ा धोखा, जानें क्या है पूरा मामला

बात अगर प्रयागराज की करें तो  गंगा यमुना के बढ़ते जलस्तर की वजह से नदियों का पानी अब निचले इलाको में भी भरने लगा है. इसके चलते दारागंज श्मशान घाट भी डूब गया है. ऐसे में लोगों को अंतिम संस्कार करने में भी काफी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है. ऐसे में लोग सड़क पर अंतिम संस्कार करने के लिए मजबूर हैं. गंगा और यमुना नदी खतरे के निशान के करीब बह रही हैं. अगर बारिश का यही हाल रहा, तो जल्द ही दोनों नदियां खतरे के निशान को पार कर लेंगी. प्रयागराज जिले के कई स्कूलों में बाढ़ राहत शिविर बनाया गया है. साथ ही  एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, जल पुलिस और पीएसी की टीमों को मुस्तैद किया गया है.

एनआईए की बड़ी कार्रवाई, टेरर फंडिंग मामले में 40 से ज्यादा स्थानों पर छापेमारी

उत्तराखंड में जोरदार बारिश देखने को मिल रही है। दो दिनों तक राज्य में इसी तरह बारिश होती रहेगी। इसके लिए मौसम विभाग ने येलो अलर्ट भी जारी किया गया है। आईएमडी के मुताबिक सोमवार को देहरादून, नैनीताल, बागेश्वर, चम्पावत, पिथौरागढ़ जिलों में कहीं कहीं तीव्र बौछार, भारी बारिश होगी. मंगलवार को देहरादून, टिहरी, नैनीताल, चम्पावत, पिथौरागढ़ जिले में कहीं कहीं तीव्र बौछार के साथ भारी बारिश की संभावना है।
इसके साथ ही मौसम विभाग ने कहा है कि उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश के उत्तरी हिस्से, बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल और सिक्किम में 10 अगस्त से व्यापक वर्षा होगी तो वहीं पूर्वी उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल और सिक्किम में 10 और 11 अगस्त को भारी से बहुत भारी वर्षा की संभावना है.