Weather : इन राज्यों पर दिखेगा चक्रवाती तूफान ‘गुलाब’ का आफ्टर इफेक्ट, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

चक्रवाती तूफान गुलाब रविवार की रात ओडिशा और आंध्र प्रदेश के तटों से टकराया. उसके बाद समंदर में ऊंची-ऊंची लहरें उठीं और कई इलाकों में तेज बारिश हुई. इस दौरान तूफान की चपेट में आने से आंध्र प्रदेश के दो मछुआरों की जान चली गई. वहीं, ओडिशा में करीब 39 हजार लोगों को निकालकर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है. बंगाल की खाड़ी से उठा चक्रवाती तूफान गुलाब आंध्र प्रदेश और ओडिशा के तटों से टकराने के बाद कमजोर पड़ गया है. हालांकि, इन इलाकों में अभी बारिश का अलर्ट बरकरार है. बताया जा रहा है कि आज और कल इस तूफान का आफ्टर इफेक्ट देश की आर्थिक राजधानी मुंबई पर भी दिखाई दे सकता है.

Cyclone Gulab: after effects of cyclone gulab on mumbai: मुंबई पर चक्रवाती  तूफान गुलाब का असर - Navbharat Times

मौसम विभाग के मुताबिक, मुंबई और महाराष्ट्र में अगले 12 घंटों में तूफान बनने की संभावना है. इसलिए विदर्भ, मराठवाडा और मध्य महाराष्ट्र में मूसलाधार बारिश के आसार व्यक्त किए गए है. इसका असर कोंकण और मुंबई में भी दिखेगा. बारिश की तीव्रता 29 सितंबर तक बने रहने का पूर्वानुमान है.

इसके अलावा गुलाब चक्रवात से पश्चिम बंगाल और झारखंड के भी प्रभावित होने का पूर्वानुमान है. भारतीय मौसम विभाग ने चक्रवात के प्रभाव से झारखंड में मध्‍यम दर्जे की बारिश होने का अलर्ट जारी किया है. रांची मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार, झारखंड के दक्षिणी और मध्‍य जिलों में बारिश हो सकती है. इसको लेकर अलर्ट जारी किया गया है. मौसम विज्ञानियों ने बताया है कि बंगाल की खाड़ी में एक और निम्‍न दबाव का क्षेत्र बन रहा है. इसके प्रभाव से झारखंड में 29 और 30 सितंबर को मूसलाधार बारिश को लेकर दूसरा अलर्ट जारी किया गया है.

मुंबई पर भी पड़ सकता है Cyclone Gulab का आफ्टर इफेक्ट; हालांकि कमजोर पड़ने  से बड़ा खतरा टला | Gulab Cyclone hits, alert issued in Odisha, West Bengal  and Mumbai

पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश, ओडिशा के कई इलाकों में बारिश को लेकर ऑरेंज अलर्ट है. जबकि कुछ जिलों के लिए येलो अलर्ट जारी किया गया है. ओडिशा के कोरापुट, रायगडा और गजपति जिलों में आज यानी 27 सितंबर को भारी बारिश के आसार है. इस दौरान हवा की गति 50 से 70 किलोमीटर प्रति घंटे रह सकती है. इसके साथ ही बिहार के कई इलाकों के साथ ही पूर्वोत्तर के कई राज्यों में बारिश होने की संभावना है. इस दौरान तेज हवाओं के साथ हल्के से मध्यम स्तर की बारिश होने की संभावना है.

 

अगर बात राजधानी दिल्ली के मौसम की करें तो इस पूरे हफ्ते सूरज और बादल दोनों आपस में लुकाछिपी खेलेगा. यहां धूप के साथ बीच-बीच में कभी-कभी बादल आएंगे और बरसेंगे. मौसम विभाग के मुताबिक अभी दिल्ली में अगले कुछ दिन रुक-रुककर अलग-अलग इलाकों में बारिश होने का सिलसिला जारी रह सकता है. ऐसा अनुमान है कि 29, 30 सितंबर और 1 अक्टूबर को हल्की बारिश होगी. वहीं, 28 सितंबर और 2 अक्टूबर को केवल बादल छाएंगे लेकिन बारिश के आसार नहीं बन रहे है.