Weather Update: 70 सालों में पहली बार दिल्ली में ऐसा मौसम, तौकते ही नहीं इसके पीछे ये भी है वजह,अलर्ट

चक्रवाती तूफान तौकते अब भले ही कमजोर पड़ गया हो, लेकिन राजधानी दिल्ली पर इसका असर अभी भी देखने को मिल रहा है. दिल्ली और आसपास के इलाकों में लागातर 24 घंटे से भी अधिक समय से बारिश हो रही है.

Heavy rainfall lashes Delhi NCR

लगातार हो रही बरसात की वजह से दिल्ली का अधिकतम तापमान सामान्य से 16 डिग्री कम रहा जो पिछले 70 वर्षों में सबसे कम है. मौसम विभाग के अनुसार, 1951 से अब तक ये मई का सबसे ठंडा दिन है. दिल्ली में मई महीने में एक दिन में अब तक की सबसे ज्यादा बारिश दर्ज की गई, दिल्ली में पिछले 24 घंटे के दौरान 119 मिलीमीटर बारिश हुई है. अभी भी यहां बारिश रुकरुक कर जारी है.खराब मौसम को देखते हुए मौसम विभाग ने दिल्ली के लिए ऑरेंज अलर्ट भी जारी किया है.

दिल्ली के अलावा उत्तर प्रदेश, राजस्थान और हरियाणा के कई इलाकों में भी रुकरुककर बारिश का सिलसिला जारी है. मौसम विभाग ने उत्तर भारत के ज्यादातर इलाकों में 20 मई को बारिश होने का अनुमान है.बता दें कि उत्तर भारत में पश्चिमी विक्षोभ का भी प्रभाव है. तूफान के असर और विक्षोभ दोनों ही मौसमी गतिविधियों के कारण अधिकांश उत्तर भारत में बारिश होने का अनुमान है.

दिल्ली-एनसीआर में बारिश में बारिश के आसार,महाराष्ट्र में मानसून का लैंडफॉल  - Jansatta

क्षेत्रीय मौसम विभाग ने राजस्थान के 7 जिलों में भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना जताई है.इसके साथ ही उत्तर प्रदेश के भी कई हिस्सों में आज भी भारी बारिश की संभावना है.

स्काईमेट के मुताबिक, राजस्थान, मध्य प्रदेश और उत्तर पूर्व भारत के कुछ हिस्सों में 19 मई को हल्की से मध्यम बारिश के आसार जताए गए है.मौसम विभाग के मुताबिक उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश के कुछ हिस्सों, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है.