Weather Update:मुंबई में भारी बारिश के बाद भूस्खलन, यहां जाने अपने राज्य में मौसम का हाल

देश के अधिकतर राज्यों में मॉनसून सक्रिय है. मैदानी इलाकों से लेकर पहाड़ों तक पर मौसम कहर बरपा रहा है.पहाड़ों पर जहां भारी बारिश से हो रही भूस्खलन की खबरें सामने आ रही है तो वही कई मैदानी राज्यों में बाढ़ से हाहाकार मचा हुआ है.

वही आज सुबह से ही मुंबई डूबी हुई नजर आ रही है.मुंबई में बीती रात से हो रही झमाझम बारिश की वजह से कई निचले इलाके में पानी भर गया,यहां तक की कई इलाकों में बाढ़ जैसी स्थिति आ गई है. कई सड़कों पर करीब 2 फीट तक पानी जमा हो गया है. इसके साथ ही हिंदमाता, सायन, माटुंगा, खार सबवे में भी जलजमाव हो गया है. बृहन्मुंबई नगर निगम के मुताबिक, मुंबई शहर में पिछले 10 घंटों में 230 मिमी से ज्यादा बारिश दर्ज की गई.वही सांताक्रूज इलाके में अपने घर के पीछे खुले ड्रेन में गिर जाने के बाद से एक महिला और दो बच्चे गायब हैं. राहत बचाव दल उनकी तलाश में जुटा है.

मौसम विभाग के मुताबिक, दिल्ली,बंगाल, बिहार, यूपी, झारखंड सहित पर्वोत्तर और उत्तर भारत के अधिकतर हिस्सों में आज भारी बारिश देखने को मिल सकती है. इस दौरान बिहार के कई जिलों में भीषण गर्मी पड़ रही है.

हालांकि बिहार के करीब 10 जिलों में बाढ़ ने भारी तबाही मचाई है. खगड़िया में बाढ़ के पानी में बहने से गुरुवार को 4 लोगों की मौत हो गई है. बिहार में बाढ़ आपदा से निपटने में NDRF की कई टीमें तैनात की गई है जो लगातार राहत और बचाव कार्य में जुटे है. बिहार में 29.32 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हुए है. राज्य के 12 जिलों के 101 प्रखंडों की 837 पंचायतें बाढ़ की चपेट में आ गई हैं. इतना ही नहीं पानी में डूबने से 21 लोगों की मौत की भी खबर है.उधर, राज्य की दूसरी नदियों का जलस्तर तो कुछ नीचे आया है, लेकिन कोसी और गंडक अभी भी अपने जलस्तर से ऊपर बह रही है.

वही अगर बात असम की करे तो प्रदेश में बाढ़ की स्थिति में थोड़ा सुधार देखने को मिला है. हालांकि असम के 33 में से 22 जिलों में 22.34 लाख लोग प्रभावित हैं.वही इस साल आई बाढ़ और भूस्खलन में मरने वालों की संख्या 129 पहुंच गई है.

इस बीच पहाड़ों पर हो रही भूस्खलन की घटनाओं को देखते हुए मौसम विभाग ने चेतावनी जारी की है. विभाग ने अगले 24 घंटे पहाड़ों के लिए बेहद भारी बताया हैं. मौसम विभाग ने पिथौरागढ़, बागेश्वर और चमोली जिलों के लिए भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है. पहाड़ों में मूसलाधार बारिश ने बीते एक महीने से भारी तबाही देखने को मिली है .

वही झारखंड की राजधानी रांची समेत कई जिलों में भारी बारिश और वज्रपात की चेतावनी मौसम विभाग ने जताई है.