Weather update : चेन्नई में बारिश तो दिल्ली में ठंड से बेहाल लोग!

जैसे-जैसे नवंबर का महीना आगे बढ़ता जा रहा है, राजधानी दिल्ली में ठंड भी ज्यादा महसूस किया जाने लगा है. राजधानी में सोमवार को अधिकतम तापमान 29 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 16 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है. पिछले हफ्ते के मुकाबले देखें तो तापमान में लागातार गिरावट दर्ज की गई है. वहीं मंगलवार से तापमान के और गिरने की संभावना जताई गई है जिससे ठंड और बढ़ जाएगी.

Thand Kab Aayegi 2018 Me - मप्र में दस्तक देगी ठंड, मौसम विभाग ने जारी किया पूर्वानुमान | Patrika News
इस दौरान आसामान में आंशिक रूप से बादल छाये रहेंगे और धुएं तथा धुंध के कारण दृश्यता में कमी रहेगी. इस बीच हवा 10 से 15 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से चल सकती है. अगर बात दिल्ली के प्रदूषण की करें तो यहां अभी तक राहत मिलती नहीं दिख रही है. हालांकि दीवाली के बाद जिस तरह वायु गुणवत्ता गंभीर हो गई थी, उसमें काफी सुधार हुआ है और इस समय वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 380 के करीब है, जिसे बहुत खराब माना जाता है. पिछले दिनों वायु गुणवत्ता सूचकांक दिल्ली समेत एनसीआर के सभी शहरों में लगभग 400 से ऊपर चला गया था. पीएम2.5 में भी कमी आई है और इस समय 310.18 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर है.

राजस्थान के इन 7 जिलों में हो सकती है भारी बारिश, मौसम विभाग ने इतने समय के लिए जारी किया अलर्ट | heavy rainfall alert for seven districts of Rajasthan - Hindi Oneindia
ये तो रही दिल्ली के मौसम की बात..अब बात करते है देश के बाकी हिस्सों में मौसम का हाल क्या रहेगा….
साइक्लोनिक प्रेशर के प्रभाव से तमिलनाडु समेत दक्षिण के कई राज्यों में नवंबर के महीने में भारी बारिश के साथ चेन्नई में बाढ़ जैसे स्थिति बन गई है. तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई भारी बारिश से बेहाल है. कई इलाके पानी में डूबने से बाढ़ जैसे हालात हो गए हैं. सड़कों से लेकर घरों तक में पानी ही पानी भरा है. इस बीच मौसम विभाग ने चेन्नई में अगले 2 दिन तक भारी बारिश का अनुमान जताया है. मौसम विभाग के अलर्ट को देखते हुए तमिलनाडु के कई जिलों में आज और कल स्कूल-कॉलेज भी बंद रहेंगे.

bihar monsoon weather updates rainfall started in many areas monsoon is ready to hit state in 48 hours yellow alert - बिहार में बारिश ने बदला मौसम का मिजाज, 48 घंटों में
IMD के मुताबिक, दक्षिण आंध्र प्रदेश और उत्तरी तमिलनाडु तट के पास पश्चिम मध्य बंगाल की खाड़ी पर चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है. जिसके प्रभाव से एक कम दबाव का क्षेत्र विकसित होने की उम्मीद है, जो उत्तर-पश्चिम दिशा में तमिलनाडु तट की ओर बढ़ेगा. बंगाल की खाड़ी से तमिलनाडु के समंदर तक साइक्लोनिक प्रेशर के कारण मौसमी गतिविधियां बदल रही हैं. जिसका असर आंध्र प्रदेश एवं पुडुचेरी में भी दिखाई दे रहा है.

 

STORY BY – ANAMIKA PRITAM