Weather Update: अगले 3 दिनों तक दिल्ली-एनसीआर में बारिश! जानें अपने राज्य के मौसम का हाल

दिल्लीवासियों को बढ़ते तापमान से राहत मिलने की संभावना है. मौसम विभाग ने राजधानी दिल्ली में तीन दिन आंधी चलने और बारिश होने की संभावना जताई है. रविवार को भी दिल्ली में आंधी के साथ बूंदा-बांदी देखने को मिली थी. दिल्ली के अलावा गुरुग्राम, फरीदाबाद सहित गाजियबााद और नोएडा में भी तेज धूल भरी आंधी देखने को मिली.

weather update raining in delhi

मौसम विभाग ने आज और कल भी बादल छाए रहने की आशंका है. 30 से 40 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने और हल्की से मध्यम बारिश होने का पूर्वानुमान है. इसके साथ ही येलो अलर्ट भी जारी किया गया है. मौसम विभाग की मानें तो गुरुवार तक रोजाना बादल छाए रहेंगे. हालांकि अभी दिल्ली-एनसीआर में धूप के बीच बादलों की आवाजाही लगी हुई है. आईएमडी ने बताया कि अधिकतम तापमान 39 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की संभावना है. नमी का स्तर 65 प्रतिशत रहा.दिल्‍ली का एयर क्‍वालिटी इंडेक्‍स रविवार को 101 पर यानी ‘संतोषजनक’ रहा, जो पहले के दिनों के मुकाबले अच्छा रहा.

स्काईमेट वेदर ने मौसम के इस बदले मिजाज को पूरे उत्तर भारत में प्री-मानसून गतिविधि करार दिया है. मौसम के इस बदलाव का असर एनसीआर के अलावा पंजाब, उत्तर प्रदेश और राजस्थान तक समान देखने को मिल सकता है.छत्तीसगढ़ के अधिकतर मैदानी क्षेत्रों में दिन का अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया जा रहा है. इस बीच प्रदेश के 12 जिलों में आंधी आने और आकाशीय बिजली गिरने की संभावना जताई गई है.

Weather Update: NCR Delhi Rain Weather Report North India Mumbai Monsoon -  Monsoon Update: जानें कब खत्म होगा मानसून का इंतजार, क्या कहती है मौसम  विभाग की रिपोर्ट?

वही पहाड़ी राज्य हिमाचल प्रदेश में शनिवार को आधी रात के बाद तूफान ने लोगों की नींद उड़ा दी. कहीं पेड़ गिर गए तो कहीं बिजली गुल हो गई. प्रदेश भर में एक दर्जन से ज्यादा पेड़ गिरे हैं. मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने सोमवार से तीन दिन अंधड़ और बारिश का येलो अलर्ट जारी किया है. मैदानी और मध्य पर्वतीय क्षेत्रों में 5 जून तक मौसम खराब रहेगा. पांच जून तक पूरे प्रदेश में बारिश-बर्फबारी के आसार हैं.
दूसरी ओर दक्षिण पश्चिम मॉनसून के 31 मई तक केरल में पहुंचने की उम्मीद है और ये पांच जून तक गोवा पहुंचेगा.

Himachal Pradesh: Shimla turns white with fresh snowfall, temperature dips  to 3 Degree Celsius | India.com

केरल में मॉनसून सामान्य तौर पर एक जून को पहुंचता है जबकि गोवा में मॉनसून की पहली फुहार छह जून तक पड़ती है. केरल से गोवा पहुंचने का इसका समय स्थितियों पर निर्भर करता है. इस बार एनसीआर में मानसून 27-28 जून के बजाय जुलाई के पहले या दूसरे सप्ताह में दस्तक दे सकता है. मौसम विभाग के मुताबिक, बंगाल की खाड़ी में चक्रवाती गतिवधियां शुरुआती दिनों से ही मानसून को प्रभावित कर रही हैं. मानसून से पहले तूफान के प्रभाव से तटीय क्षेत्रों में हुई भारी बारिश भी मानसून की सुव्यवस्थित प्रणाली के लिए अच्छी नहीं है.