Weather Update: दिल्ली में गर्मी से राहत तो मुंबई में बारिश बनी आफत, जानें आपके राज्य में कैसा रहेगा मौसम का हाल

गर्मी की मार झेल रहे दिल्लीवासियों को भीषण गर्मी से थोड़ी राहत मिली है. गुरुवार देर रात दिल्ली-एनसीआर में तेज हवाएं चलने और बारिश से लोगों को गर्मी के प्रकोप से कुछ राहत मिली. बीते रात करीब 11 बजे के आसपास एनसीआर के अधिकतर हिस्सों में तेज बारिश और हवाएं चलीं. इसके  साथ ही रह-रहकर बिजली भी कड़कती रही, जिसके बाद इस बारिश और आंधी-तूफान से तापमान में गिरावट देखने को मिली है. आलम ये रहा कि गुरुवार रात दिल्ली-NCR के कुछ हिस्सों में बारिश के बाद तापमान 29 डिग्री सेल्सियस तक नीचे गिर गया. मौसम विभाग का कहना है कि एक सप्ताह तक दिल्ली-एनसीआर में रुक-रुककर बूंदाबांदी हो सकती है.

दिल्ली-NCR को मिली गर्मी से राहत, तेज़ आंधी के बाद बारिश से मौसम हुआ  सुहावना - Weather Forecast Rain in delhi ncr monsoon latest updates see  photos - AajTak

वही दूसरी ओर मुंबई में हुई पहली बारिश ने ही शहर को बेहाल कर दिया. भारी बारिश के बाद सड़कों पर पानी भर गया और ट्रेनों के पहिए भी थम गए. इस बीच मुंबई में हाई टाइड को लेकर चेतावनी जारी की गई है. मौसम विभाग के अनुसार, बारिश के 4 महीने में 18 दिन खतरे भरे हैं. इन 18 दिनों में हाई टाइड के दौरान समुद्र में लहरों की ऊंचाई करीब 5 मीटर तक रहेगी. इनमें 6 दिन तो सिर्फ जून महीने में ही है. जबकि 12 दिन में से जुलाई में 5 दिन, अगस्त में 5 और सितंबर में 2 दिन है. अगर हाई टाइड के वक्त बारिश हुई तो मुंबईकरों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है. मौसम विभाग के मुताबिक आगामी 5 दिनों तक मुंबई में तेज बारिश की आशंका है. मुंबई के अलावा ठाणे, पालघर, रायगढ़ और कोंकण में भी आगामी दिनों तक बारिश होने के आसार जताए गए है जिसको लेकर मौसम विभाग ने ऑरेंज अलर्ट जारी किया है.

मुंबई में आफत बनी बारिश, अब तक 4 की मौत, मुंबई से अहमदाबाद की सभी ट्रेनें  प्रभावित | Heavy rain lashes Mumbai, resulting in water-logging in several  areas, one dead - Hindi Oneindia

मौसम विभाग के मुताबिक, दक्षिण पश्चिम मानूसून अच्छी गति से आगे बढ़ रहा है और अगले दो दिन में पश्चिम बंगाल और झारखंड के सभी इलाकों तक यह पहुंच जाएगा. मौसम विभाग के अनुसार मानसून दक्षिण गुजरात के कुछ और इलाकों, महाराष्ट्र के बचे हुए इलाकों, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, दक्षिण मध्यप्रदेश के कुछ हिस्सों, छत्तीसगढ़ और दक्षिण गुजरात भी पहुंच गया है.