उत्तराखंड में 14 जुलाई तक जारी रहेगा बारिश का दौर, यमुनोत्री हाईवे बंद, फूलों की घाटी और बद्रीनाथ खुला

मौसम विभाग ने बारिश का पूर्वानुमान किया है।  देहरादून, टिहरी, पौड़ी, नैनीताल, चम्पावत जिलों में सोमवार कहीं-कहीं बारिश होने की संभावना है। मौसम विभाग का कहना है कि 12 जुलाई को देहरादून, टिहरी पौड़ी, नैनीताल, चम्पावत व 13 को पौड़ी, नैनीताल, बागेश्वर, पिथौरागढ़ जिले में कहीं-कहीं भारी बारिश हो सकती है।

यमनोत्री हाईवे हुआ बंद 

रविवार को बारिश से भूस्खलन के कारण यमुनोत्री हाइवे समेत 191 सड़कों पर यातायात बंद हो गया। हाइवे बंद होने से कई यमुनोत्री यात्री राड़ी टॉप के पास फंस गए हैं। उधर, बदरीनाथ हाइवे देर शाम छोटे वाहनों के लिए खोल दिया गया है।

फूलो की घाटी का रास्ता खुला 

शनिवार को फूलों की घाटी जाने वाला रास्ता दो जगह टूट गया था। जिसके बाद फूलों की घाटी की यात्रा रोक दी गई थी। रविवार को रास्तों को ठीक करने का काम किया गया है और सोमवार सुबह पौने नौ बजे 45 पर्यटकों का पहला जत्था फूलों की घाटी के लिए रवाना हुआ। इससे पहले सोमवार सुबह साढ़े पांच बजे से पार्क प्रशासन की टीमें 11 मजदूरों को लेकर रास्ता खोलने में जुटी थी, जिन्होंने टूटी हुई जगहों पर वैकल्पिक मार्ग तैयार किया।

कार के बह जाने से एक की मौत, पेड़ों की चपेट में आने से दो कारें क्षतिग्रस्त

मौसम विभाग  ने कहा है की 14 को उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, चमोली, बागेश्वर, पिथौरागढ़ जिलों में कहीं-कहीं तीव्र बौछार के साथ अनेक स्थानों पर बारिश हो सकती है। विभाग ने भरी बारिश को लेकर येलो अलर्ट जारी किया है। भरी बारिश के कारण इनदिनों पहाडो पर भूसखलन की घटनाये हो रही है। केदारनाथ हाईवे पर तरसाली गांव के मार्ग पर पहाड़ से गिरे मलबे और पेड़ों की चपेट में आने से दो कारें क्षतिग्रस्त हो गईं। गनीमत रही कि, घटना के वक्त कारों में कोई सवार नहीं था। वही देहरादून के शिमला बाईपास मार्ग पर एक कार के रपटे की चपेट में आने से एक व्यक्ति की मौत हो गई, जबकि दो घायल हो गए। कार सवार पांवटा साहिब से देहरादून से लौट रहे थे। पहाड़ पर जारी बारिश के कारण हरिद्वार में गंगा का जलस्तर रविवार सुबह चेतावनी निशान करीब पहुंच गया। हालांकि, दोपहर बाद गंगा का जलस्तर चेतावनी के निशान से नीचे आ गया।

बारिश का दौर 

14 जुलाई तक बारिश का दौर 12 जुलाई को देहरादून, टिहरी, पौड़ी, नैनीताल, चंपावत और 13 जुलाई को पौड़ी, नैनीताल, बागेश्वर, पिथौरागढ़ जिले में कहीं-कहीं भारी से भारी बारिश हो सकती है। इन जिलों में येलो अलर्ट जारी किया गया है, जबकि 14 जुलाई को उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, चमोली, बागेश्वर और पिथौरागढ़ में कही कहीं बौछारों के साथ अनेक स्थानों पर बारिश की संभावना बनी हुई है। बारिश से पूरे प्रदेश में जनजीवन अस्त व्यस्त है। जबकि सड़कें भी जगह-जगह बंद हैं।