Coronavirus को लेकर भारत में क्या कुछ हो रहा है?

पूरी दुनिया में कोरोना वायरस का क़हर जारी है अब तक दुनिया भर में कोरोना वायरस की वजह से 3200 से ज़्यादा लोगों की जान जा चुकी है..वहीं, इस वायरस से अब भारत भी अछूता नहीं है..भारत में अभी कोरोना वायरस के 29 केस सामने आए हैं. इनमें से शुरुआती तीन केस केरल के थे, जो कि अब ठीक हो चुके हैं. बाकी 26 में इस वायरस के लक्षण है, इनमें से 16 लोग इटली के नागरिक हैं जो भारत घूमने आए थे.

Image result for What is happening in India regarding Coronavirus?

कोरोना वायरस को लेकर भारत सरकार सतर्क हुई है और अब किसी भी देश से आने वाले नागरिक की जांच एयरपोर्ट पर की जाएगी. पहले ये नियम सिर्फ 12 देशों के लिए लागू था. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन के मुताबिक, अभी तक 5 लाख से अधिक लोगों की एयरपोर्ट पर जांच की जा चुकी है, जबकि नेपाल बॉर्डर पर भी दस लाख लोग की जांच हो चुकी हैं. स्वास्थ्य मंत्री के मुताबिक, देश में अबतक 15 लैब हैं जो कोरोना वायरस से निपटने के लिए तैयार हैं जबकि जल्द ही अन्य 19 लैब तैयार कर ली जाएंगी.

Image result for What is happening in India regarding Coronavirus?

इसके अलावा दिल्ली सरकार ने भी करीब 25 अस्पतालों को अलर्ट पर रखा है यहां 250 से अधिक बैड कोरोना वायरस से पीड़ित लोगों के लिए रिजर्व किए गए हैं. दिल्ली सरकार ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए एक टास्क फोर्स का गठन भी किया है.

वही,भारत सरकार की ओर से दिल्ली समेत अन्य बड़े शहरों में लैब की व्यवस्था की जा रही है, साथ ही देश में आने वाले हर व्यक्ति की अब जांच शुरू कर दी गई है. वही, दूसरी ओर उत्तर प्रदेश के आगरा में प्रशासन की ओर से सतर्कता बढ़ा दी गई है. ताजमहल आने वाले सभी यात्रियों की स्क्रीनिंग की जा रही है.आगरा में कोरोना वायरस से जुड़े जो भी सैंपल लिए गए थे, उन्हें जांच के लिए भेजा गया है.यहां आगरा में करीब 40-50 लोगों की जांच की गई थी. इसके अलावा आगरा में कुछ टूरिस्ट ने जांच के लिए अप्लाई किया था.जबकि बिहार के गया में कोरोना वायरस का एक संदिग्ध मिला है..ये युवक चीन में पढ़ाई करता था, युवक को अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

कर्नाटक के बीदर में तीन लोगों में कोरोना वायरस के लक्षण मिले हैं. जिनके बाद अब उन्होंने अस्पताल में भर्ती कराया गया है और जांच की जा रही है. इनमें से एक इंजीनियर नॉर्वे से वापस आया है, एक व्यक्ति और उसका बेटा कतर से वापस आया है. कोरोना वायरस से निपटने के लिए एक्सपर्ट सलाह दे रहे हैं कि भीड़ वाले इलाके से बचना चाहिए. इसी को देखते हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, योगी आदित्यनाथ, दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल ने फैसला लिया है कि वो इस बार होली मिलन समारोह में शामिल नहीं होंगे.

सरकार के साथ-साथ आम व्यक्ति भी कोरोना को लेकर सावधानियां बरत रहा है. कोरोना वायरस से बचने के लिए लोग मास्क और हैंड सैनेटाइज़र का इस्तेमाल कर रहे हैं, लेकिन राजधानी दिल्ली में अधिक डिमांड होने के कारण इसकी कमी होने लगी है. बता दे कि कोरोना वायरस का कहर दुनियाभर में फैल रहा है. इस वायरस की जहां से शुरुआत हुई थी, वहां चीन में अबतक 3000 लोग इसका शिकार हो चुके हैं, जबकि चीन में कोरोना वायरस से प्रभावितों की संख्या 80 हजार से अधिक है.