13 हजार किमी दूर US से आस्ट्रेलिया पहुँचने वाले कबूतर को क्या बनाया गया मारने का प्लान?

आस्ट्रेलिया में एक कबूतर इस वक्त चर्चा में है और आस्ट्रेलिया की सरकार और प्रशासन इस कबूतर को मारने की योजना बन रहे हैं… आखिर ये कबूतर इस वक्त चर्चा में क्यों है? ये हम आपको बतायेंगे लेकिन बीमारी फैलने की आशंका से इस कबूतर को सरकार और आस्ट्रेलिया प्रशासन मारना चाहता है.

दरअसल यह कबूतर जिसका नाम जो रखा गया है. ये अमेरिका (America) से 13000 किलोमीटर का सफर तय करके ऑस्ट्रेलिया पहुंचा है. इसे रेसिंग कबूतर बताया जा रहा है, जो गलती से भटककर 26 दिसंबर को मेलबर्न पहुंच गया. ऑस्ट्रेलियाई अधिकारियों को डर है कि इस कबूतर के आने से उनके देश में बीमारी (Bird Flu) फैल सकती है. 29 अक्टूबर को अमेरिका (America) के ओरेगन से एक रेस के दौरान ये कबूतर गायब हुआ था और 26 दिसंबर को मेलबर्न पहुंच गया. एक ब्यक्ति ने इस कबूतर को अपने घर की छत पर देखा तो उसने प्रशासन को इसके बारे में जानकारी दी…

इस कबूतर को जब ऑस्‍ट्रेलिया में पकड़ा गया तो उसके पैर में नीले रंग का पट्टा बंधा हुआ था. इस पट्टे को रेस में उसकी अलग पहचान के लिए बांधा गया था… वहीँ अमेरिका के जानकारों का कहना है ये कोई ये कबूतर असली नही है क्योंकि कबूतर के पैर में लगा नीले रंग का पत्ता नकली है… ऑस्ट्रेलिया के कृषि विभाग ने एक बयान जारी कर कहा है कि इस कबूतर को हमारे देश में रहने की अनुमति नहीं है। इन लोगों को डर है कि इस एक कबूतर के कारण ऑस्ट्रेलिया की खाद्य सुरक्षा और पोल्ट्री उद्योंगों की सुरक्षा खतरे में पड़ सकती है। अधिकारियों ने तो यहां तक चेतावनी दी है कि इससे देश की जैव सुरक्षा तक को खतरा हो सकता है।

हालाँकि अब आम लोग भी आस्ट्रेलिया सरकार के इस फैसले के खिलाफ है कि कबूतर को मारा जाए.. कई रिपोर्ट्स में ऐसा दावा किया गया है कि यह आजतक किसी कबूतर के द्वारा तय की गई सबसे अधिक दूरी है। इससे पहले किसी भी कबूतर ने 13000 किलोमीटर की दूरी तय नहीं की है। कबूतरपीडिया डॉट कॉम के अनुसार, किसी कबूतर द्वारा आजतक सबसे ज्यादा दूरी तय करने का रिकॉर्ड 1931 में बना था। जिसमें एक कबूतर फ्रांस के अर्रास से उड़कर वियतनाम के सॉइगान पहुंचा था। अब 13000 किमी की दूरी तय कर जो ने सारे रिकॉर्ड तोड़ फिये लेकिन आस्ट्रेलिया की सरकार जो कबूतर की जान के पीछे पड़ गयी है… देखते है कि जो बच पाटा है कि नही!