Viral Video: महिला ने अपने ही दो साल के बच्चें को इतना बेरहमी से क्यों पीटा? वायरल वीडियो का सच क्या है ?

सोमवार 30 अगस्त को जब पूरा देश जन्माष्टमी मना रहा था. अपने-अपने बच्चों को कृष्ण बनाकर  ख़ुशी मना रहे थे उसी वक्त ये विडियो देखकर लोग आक्रोशित हो रहे थे. शायद आपने भी ये वीडियो देखी होगी. इस वीडियो में दिख रहा है कि ये महिला बच्चे को इतना मार रही है कि बच्चें के मुंह से खुन तक निकल गए है. हैरानी की बात ये है कि जिस बच्चें को इतना बेरहमी से ये महिला मार रही है वो उसका खुद का बच्चा है. ये वीडियो देखने के बाद सब हैरान है कि क्या वाकई कोई मां अपने बच्चे को इतना बेदर्दी से मार सकती है. वीडियो देखने के बाद सबके मन में बस एक ही सवाल है कि आखिरकार ये महिला ऐसा कर क्यों रही है कहाँ की है और कौन है? तो चलिए इसके पीछे की पूरी खबर जानते हैं. आगे बढ़ने से पहले आपको बता दें की इस महिला की गिरफ्तारी हो चुकी है.

बताया जा रहा है कि यह वीडियो तमिलनाडु के विल्लुपुरम का है. अपने बच्चे को बेरहमी से पीटती महिला और उसके पति के बीच अनबन थी. दरअसल, आंध्र प्रदेश के सिंधुर की महिला तुलसी ने 2016 में विल्लुपुरम जिले के गिंगी के वदिवाझगन से शादी की. वदिवाझगन पिछले तीन सालों से चेन्नई में काम कर रहा था, जबकि तुलसी 2019 में जिंजी जिले के मेट्टूर में बस गई थी. इनके दो बच्चे हैं- प्रदीप (दो साल) और गोकुल (चार साल).

बताया जा रहा है कि तुलसी और वदिवाझगन में किसी बात को लेकर अनबन थी. दोनों के बीच अनबन इतनी बढ़ी कि वदिवाझगन ने तुलसी को उसके मायके सिंधुर छोड़ आया. इस समय तुलसी अपने माता-पिता के साथ ही रहती है. इस बीच तुलसी के फोन से उसके रिश्तेदारों को एक वीडियो हाथ लग गया, जिसमें वह अपने बेटे को बुरी तरह पीट रही है. तुलसी के रिश्तेदारों ने वदिवाझगन को इस चौंकाने वाले वीडियो की जानकारी दी. वीडियो दिल दहला देने वाला था, क्योंकि तुलसी अपने दो साल के बच्चे के रोने पर उसे बेरहमी से पीटते हुए दिखाई दे रही है. वो इतने बुरी तरह से बच्चों को पीट रही है कि बच्चे के नाक और मुंह से खून बहने लगा.

ऐसे कई वीडियो महिला के फोन से मिले है..एक अन्य वीडियो में महिला को बच्चे के पैरों पर मारते देखा जा सकता है, और बच्चा दर्द से चीख रहा है, और उसके बाद तुलसी उसे चप्पल से मारती है. कुछ जगह महिला को भी रोते हुए देखा जा सकता है.एक और वीडियो में बच्चे की पीठ पर खरोंचें देखी जा सकती है, जिससे साफ़ पता चलता है कि उसे बेल्ट से पीटा गया है. ऐसे वीडियो मिलने के बाद लोगों का कहना है कि हो सकता है कि महिला की दिमागी हालत ठीक ना हो लेकिन चौंकाने वाली बात ये है कि रिपोर्ट में ऐसा कुछ भी सामने नहीं आया है. पुलिस के मुताबिक, मनोचिकित्सकों ने पुष्टि कर दी है कि तुलसी मानसिक रूप से स्वस्थ है और उसे कोई मानसिक दिक्कत नहीं है. तुलसी का मानसिक परीक्षण मजिस्ट्रेट द्वारा पुलिस को दिए गए आदेश के बाद करवाया गया था.

हालांकि जांचकर्ताओं का कहना है कि जब भी तुलसी का अपने पूर्व पति से झगड़ा हुआ करता था, वह बच्चे को यातना देती थी, और वीडियो रिकॉर्ड करती थी. जांच करने वाली टीम का मानना है कि जन्म के समय हुई दिक्कतों की वजह से वह बच्चे के प्रति गुस्सा महसूस करती थी.

पुलिस का ये भी मानना है कि तुलसी दूसरी विवाह करना चाहती थी, जिसकी वजह से पूर्व पति से उसका विवाद हुआ. जांच टीम में शामिल डॉ एन. श्रीनाथ के मुताबिक भी, “प्रथम दृष्टया, यह भी लगता है कि वह एक अन्य व्यक्ति के संपर्क में थी, और वे दोनों शादी करने की योजना बना रहे थे..इस कारण उसके पूर्व पति से उसका विवाद हुआ, और इसी वजह से बच्चे को यातना देने का विचार पनपा..”फिलहाल तुलसी को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है और उससे पुछताछ जारी है.साथ ही पुलिस उस शख्स को तलाश कर रही है, जिसके साथ तुलसी का कथित रूप से संबंध था. बच्चों को उनके पिता को सौंप दिया गया है. लेकिन यहां सवाल ये है ये दुनिया किस ओर जा रही है..क्योंकि ये खबर सामने आने के बाद हैवानियत शब्द भी अब छोटा लग रहा है.