300 थाने में बनेगा महिला हेल्प डेस्क, दुष्कर्म मामले की जांच करेंगे एसपी

रांची: झारखंड के डीजीपी ने कहा कि राज्य के 300 थानाें में महिला हेल्प डेस्क बनेगा। महिलाओं की सुरक्षा के लिए यह निर्भया फंड से बनाया जाएगा। इसमें महिला सभी प्रकार के शिकायत दर्ज करा सकती है।  उन्होंने कहा कि महिला या बच्ची से अपराध होने पर जो पुलिस अधिकारी मामले को दबाने और समझौता कराने की कोशिश करेंगे, उनपर भी कानून सम्मत कार्रवाई होगी और उन पर प्राथमिकी दर्ज होगी। उन्होंने बताया कि पिछले सप्ताह राज्य के सभी डीआईजी, एसएसपी और एसपी को महिलाओं के विरूद्ध हो रहे अपराधों को रोकने के लिये संबंधित जिलों में एक वाट्सएप्प नंबर प्रसारित करने का निर्देश दिया था। विभिन्न जिलों द्वारा प्रसारित वाट्सएप्प नंबर पर अबतक कुल 108 शिकायतें मिली। इसमें सर्वाधिक राजधानी रांची में कुल 28, गिरिडीह में कुल 18 तथा जमशेदपुर से कुल 12 शिकायतें आयी। साहेबगंज जामताड़ा एवं खूँटी में किसी प्रकार की शिकायत नहीं मिली। इसमें अधिकांश मामले शादी का झांसा देकर यौन शोषन एवं घरेलु हिंसा के है। उन्होंने दुष्कर्म के वैसे मामलों में जिनमें पंचायत द्वारा पीडि़ता एवं उसके परिजनों पर दबाव डालकर समझौता कराने का प्रयास किया जाता है, उनके विरूद्ध कड़ी कार्रवाई किये जाने की बात कही। डीजीपी ने पीड़ितों से निर्भीक होकर निकटवर्ती थानों में शिकायत दर्ज करने के लिए अनुरोध किया। डीजीपी ने कहा कि महिला और बालिकाओं के साथ हुये दुष्कर्म के मामलों में संबंधित जिला के एसपी तत्काल संज्ञान लेकर स्वयं घटना की जांच करेंगे तथा स्वयं पूरी जांच कर अग्रतर कार्रवाई करना सुनिश्चित करेंगे। चूक के लिए उनपर भी कार्रवाई होगी। इससे थाना स्तर पर किसी प्रकार के लापरवाही की कोई गुंजाइश नहीं रहेगी। इस संबंध में एक एसओपी भी बनाया जा रहा है।
एक से 14 नवंबर तक मादक पदार्थ के खिलाफ पूरे राज्य में चलेगा अभियान
डीजीपी एमवी राव ने कहा कि एक नवंबर से 14 नवंबर तक गांजा, हेरोइन ड्रग्स के खिलाफ अभियान तेज होगा। राव ने कहा कि अवैध शराब तथा सभी प्रकार के मादक पदार्थों की तस्करी एवं बिक्री के खिलाफ पूरे राज्य में एक साथ 01 नवम्बर से 02 सप्ताह का विशेष अभियान चलाया जाएगा। इसके बाद भी यदि किसी थाना क्षेत्र में मादक पदार्थों की बरामदगी होती है तो उसकी जिम्मेदारी संबंधित थाना प्रभारी की होगी। सड़क पर गुंडई, फायरिंग होगी तो डीएसपी को जवाब देना होगा।  डीजीपी ने बताया कि बिहार विधानसभा चुनाव के मद्देनजर झारखण्ड पुलिस के द्वारा बिहार के सीमावर्ती क्षेत्रों में कुल 50 चेक पोस्ट बनाये गये है एवं उन चेक-पोस्टों पर लगातार चेकिंग अभियान जारी है। डीजीपी ने सड़कों पर खतरनाक ढ़ंग से बाईक चलाने वाले बाइकर्स गैंग के विरूद्ध कड़ी कार्रवायी करने का निर्देश दिया है। बाइकर्स को सीसीटीवी एवं ईंटरसेप्टर के द्वारा चिन्हित कर उनकी गिरफ्तारी करते हुए उनका वाहन भी जब्त किया जायगा। उन्होंने बताया की मुख्यमंत्री झारखण्ड द्वारा राज्य में किसी भी आपराधिक मामले, विशेषकर महिलाओं के विरूद्ध हो रहे अपराधों पर पुलिस द्वारा की जाने वाली कार्रवाई के लिए किसी प्रकार की तकनीकि संसाधन एवं फंड की कोई कमी नहीं होने दिये जाने के लिये आश्वस्त किया गया है।