World Wildlife Day 2021: जानिए क्यों मनाया जाता है विश्व वन्यजीव दिवस, इसका इतिहास, विषय और महत्व

ये धरती अनेक प्रजातियों का घर है और वन्यजीव पर्यावरण में संतुलन बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं. इसलिए इन जीवों का संरक्षण काफी अहम हो जाता है. इसी के मद्देनजर हर साल 3 मार्च को वन्यजीवों के प्रति लोगों में जागरूकता बढ़ाने के उद्देश्य से विश्व वन्यजीव दिवस मनाया जाता है. इस दिन दुनिया के वनस्पतियों और जीवों के बारे में दुनियाभर में जागरूकता फैलाई जाती है.

World Wildlife Day 2021: History, significance, theme, all you need to know

विश्व वन्यजीव दिवस के माध्यम से हर साल अलग-अलग थीम के माध्यम से लोगों में जागरुकता फैलाई जाती है. ये थीम लुप्त हो रहे जीवों और प्राकृतिक वनस्पतियों के संरक्षण से संबंधित होती है.तो चलिए सबसे पहले यही जान लेते है कि इस बार का क्या थीम है..विश्व वन्यजीव दिवस 2021 की थीम “वन और आजीविका: लोगों और ग्रह को बनाए रखना” है.

कैसे हुई इस खास दिवस की शुरुआत?

दुनियाभर से लुप्त हो रहे जंगली फल-फूलों के अंतरराष्ट्रीय ट्रेड को प्रतिबंधित करने के लिए 3 मार्च 1973 को संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव पर हस्ताक्षर हुए थे. इस खास दिन की याद में जानवरों और पेड़-पौधों की ऐसे दुर्दशा को देखते हुए संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 20 दिसंबर 2013 को 68वें सत्र में 3 मार्च के दिन को ‘विश्व वन्यजीव दिवस’ के रूप में अपनाए जाने की घोषणा की. जिसके बाद 3 मार्च 2014 को पहला विश्व वन्यजीव दिवस मनाया गया.

World Wildlife Day 2021: History, theme, images and significance -  Information News

इस दिन का सबसे बड़ा उद्देश्य तो यही है कि दुनियाभर में लुप्त हो रही वनस्पतियों और जीव जन्तुओं की प्रजातियों के प्रति लोगों को जागरूक किया जाए. इसी के मद्देनजर आज के दिन विश्वभर में वन्यजीवों की सुरक्षा के लिए जागरुकता अभियान चलाए जाते हैं. हमें इस दिवस की महत्ता को गहराई से समझने की आवश्यकता है. अगर हम अभी नहीं चेते तो वो दिन दूर नहीं जब ये वन्यजीव प्रजातियां पूरी तरह से विलुप्त हो जाएंगी.