यहां मिला दुनिया का सबसे बड़ा पौधा, 200 KM है लंबाई!

आपने अपनी ज़िंदगी में तरह-तरह के पेड़-पौधे देखे होंगे। कुछ पेड़ इतने विशाल होते है की उनकी छांव में से आस-पास के घर पर आ जाती है तो कई बार वहीं ज़मीन या छतों पर फैलने वाली बेल भी पूरा-पूरा घर भी घेर लेती हैं। लेकिन क्या आप ने कभी ऐसे पौधे के बारे में सुना है जिसकी लम्बाई इतनी बढ़ जाये की उसमे फुटबॉल के 20 हजार मैदान समां जाये या फिर एक पूरा का पूरा शहर समां जाये। आज हम आप को ऐसे ही पौधे के बारे में बताने जा रहे है। हो सकता है की आप को यह खबर मनघणत लगे , लेकिन यह सच है की एक पौधे की लम्बाई इतनी जा चुकी है की उसमे पूरा का पूरा शहर समां जाये। इस पौधे की लम्बाई मीटर में नहीं बल्कि किलो मीटर में है वो भी १० या ४० किलो मीटर नहीं बल्कि पुरे २०० किलोमीटर है।

वैज्ञानिकों ने समुद्री घास के बारे में बताया

Posidonia australis नाम का जलीय पौधा 180 किलोमीटर से भी ज्यादा एरिया को घेर चुका है। इस समुद्री घास के बारे में रिसर्चर्स ने बताया कि इसका नाम Posidonia australis है और ये एक तरह की रिबन वीड समुद्री घास है। University of Western Australia और Flinders University के रिसर्चर्स ने मिलकर इस पर शोध किया. उन्हें शार्क बे एरिया में 180 किलोमीटर तक पहुंची हुई ये घास मिली। श्चिमी ऑस्ट्रेलिया के शहर पर्थ से 800 किलोमीटर दूर शार्क
बे में यह पौधा मिला है।

वैज्ञानिकों ने की पुष्टि

पेड़ पौधों में भी जीवन होता है और ऐसे ही सक्रिय अवस्था वाले एक पौधे (Plant) की खोज वैज्ञानिकों ने ऑस्ट्रेलिया (Australia) के समंदर के पानी के अंदर की है. दरअसल एक बीज से पैदा हुआ पोसिडोनिआ ऑस्ट्रेलिस (Posidonia australis) नाम का जलीय पौधा 180 किलोमीटर से भी ज्यादा एरिया को घेर चुका है.

कैसे हुई खोज?

शोधकर्ताओं ने पूरी खाड़ी से नमूने जुटाए और 18,000 जेनेटिक मार्कर्स का अध्ययन किया ताकि हर नमूने का एक ‘फिंगरप्रिंट’ तैयार किया जा सके. दरअसल, वे ये जानना चाह रहे थे कि कितने पौधे मिलकर समुद्री घास का पूरा मैदान तैयार करते हैं। शोधकर्ताओ को जब अपने इस सवाल का जवाब मिला तो वे लोग हैरान रह गए। वहां सिर्फ एक पौधा था. शार्क बे में सिर्फ एक ही पौधा 180 किलोमीटर लंबा था. यह पृथ्वी पर अब तक ज्ञात सबसे बड़ा पौधा है।

क्यों विशेष है पौधा?

वैज्ञानिक कहते हैं कि यह अद्भुत पौधा है, जो पूरी खाड़ी में अलग-अलग परिस्थितियों में भी उगा हुआ है। अपने आकार के अतिरिक्त जो बात इस पौधे को विशेष बनाती है, वो है इसकी मुश्किल हालात में भी जिंदा रहने की क्षमता। ये धरती पर अब तक का सबसे बड़ा पौधा है, जो एक ही सीडलिंग से 180 किलोमीटर तक फैल गया. इस पौधे ने अलग-अलग तरह के तापमान, वातावरण और परिस्थितियों को झेलते हुए इतनी लंबाई हासिल की है। जो ज्यादातर पौधों के लिए बहुत मुश्किल होता है।

शोधकर्ता अब शार्क बे में कई प्रयोग कर रहे हैं ताकि इस पौधे को और करीब से समझा जा सके. वे जानना चाहते हैं कि ऐसे विविध हालात में यह पौधा किस तरह जिंदा रहता है. शार्के बे विश्व धरोहरों में शामिल एक विशाल खाड़ी है, जहां का समुद्री जीवन वैज्ञानिकों और पर्यटकों को खासा आकर्षक लगता है.

धरती का अब तक का सबसे बड़ा पौधा

रिसर्च के शामिल टीम के मुताबिक ये धरती पर अब तक का सबसे बड़ा पौधा है. इस पौधे ने अलग-अलग समुद्री तापमान और परिस्थितियों का सामना करते हुए इतनी लंबाई हासिल की है. इससे पहले अमेरिका के Utah स्टेट में पैंडो नाम के ऐस्पेन ट्री की गिनती दुनिया के सबसे बड़े पौधे के रूप में होती थी.